विज्ञापन
विज्ञापन

बाघ के हत्यारोपियों का गैंग तक पहुंचने का शक गहराया

chitrakoot Updated Sun, 19 May 2019 12:30 AM IST
बाघ का शिकार करने वाले फरार आरोपियों की तलाश करती पुलिस टीम।
बाघ का शिकार करने वाले फरार आरोपियों की तलाश करती पुलिस टीम। - फोटो : amarujala
ख़बर सुनें
चित्रकूट। प्यासे बाघ का करंट लगाकर शिकार करने वाले वन विभाग टीम की अभिरक्षा से फरार तीनों आरोपियों का 72 घंटे बाद भी पता नहीं चल सका है। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि कहीं यह सब डाकू बबुली कोल गैंग के पास न पहुंच गए हों। फरार एक आरोपी की रिश्तेदारी डाकू बबुली व लवलेश कोल के गांव डोडा माफी में भी है। खोजबीन कर रही पुलिस व वन विभाग की टीमों ने इन गांव के आस पास निगरानी बढ़ा दी है।
विज्ञापन
विज्ञापन
गौरतलब है कि 12 मई की रात को जिले की सीमा से सटे मध्य प्रदेश के अमिरती वन बीट मझगवां में कुछ लोगों ने तालाब के पास करंट लगाकर बाघ का शिकार किया था। इस मामले में वन विभाग की टीम ने सात ग्रामीणों पर शक जताया। जिसमें चार के खिलाफ मझगवां पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। 13 मई को इनमें राजेश मवासी, रज्जन कोल व जोला चौधरी को छापामार कर पकड़ा गया था जबकि चौथा आरोपी अनिल कोल फरार है। इन तीनों को बुधवार को अदालत में पेश कर दो दिन की रिमांड पर लिया गया। बुधवार की देर रात को तीनों मझगवां वन विभाग के रेस्ट हाउस के रोशनदान की खिड़की तोड़कर भाग निकले थे। तब से पुलिस व वन विभाग की चार टीमें लगातार इनकी तलाश कर रहीं हैैं। 72 घंटे बीतने के बाद भी अभी कोई सुराग न लगने पर अब टीमों ने चित्रकूट जिले के दस्यु प्रभावित क्षेत्र के गांव में भी निगरानी रखी है। बताया गया है कि फरार आरोपी रज्जन कोल व अनिल कोल की रिश्तेदारी छह लाख के इनामी डाकू बबुली व लवलेश कोल के गांव में भी है। जिससे संभावना है कि पुलिस से बचने के लिए यह आरोपी कहीं इसी गांव अथवा गैंग के पास न पहुंचे हो।
सतना एसपी रियाज इकबाल व डीएफओ राजीव कुमार मिश्रा ने बताया कि सभी टीमें सतर्कता से फरार आरोपियों की तलाश कर रहीं हैं। जल्द ही इन्हें पकड़ा जाएगा। इसके लिए यूपी चित्रकूट पुलिस व वन विभाग के अधिकारियों की भी मदद ली जा रही है।

जांच टीम ने दर्ज किए बयान
चित्रकूट। प्यासे बाघ का करंट लगाकर शिकार करने के आरोपियों के फरार होने के बाद से मझगवां पुलिस व वन विभाग की टीम आरोपियाें के परिजनों से पूंछताछ कर रही है। परिजनों ने भी बताया कि उनका प्रयास है कि जल्द यह सब हाजिर हो जाएं लेकिन उनका कुछ पता नहीं चल रहा है। उधर शिकार मामले में जांच टीम ने डयूटी पर मौजूद वन विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों  के बयान दर्ज कराए। शनिवार को जिले की सीमा से सटे सरभंग आश्रम परिसर पहुंचे एसडीओ वीरेंद्र प्रताप सिंह, एसडीओ श्रीकंात शर्मा व जीआर सिंह समेत पांच सदस्यीय जांच टीम ने रेंजर, सर्किल प्रभारी व वनरक्षकों के बयान दर्ज किए।

Recommended

एलपीयू ही बेस्ट च्वॉइस क्यों है इंजीनियरिंग और अन्य कोर्सों के लिए
Lovely Professional University

एलपीयू ही बेस्ट च्वॉइस क्यों है इंजीनियरिंग और अन्य कोर्सों के लिए

क्या आपकी नौकरी की तलाश ख़त्म नहीं हो रही? प्रसिद्ध करियर विशेषज्ञ से पाएं समाधान।
Astrology

क्या आपकी नौकरी की तलाश ख़त्म नहीं हो रही? प्रसिद्ध करियर विशेषज्ञ से पाएं समाधान।

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

मां व दो बेटियां गंगा में डूबीं, दो के शव मिले

पूर्णमासी पर गंगा स्नान करने गईं थीं तीनों, बड़ी बेटी की तलाश जारी

19 जून 2019

विज्ञापन

हिंदी सिनेमा में दहशत फैलाकर वसूली करने वालों का आतंक, निर्देशक और सिनेमैटोग्राफर पर जानलेवा हमला

फिल्म इंडस्ट्री को दहशत में रखकर उगाही करने वाले गिरोह ने बुधवार को मशहूर निर्देशक सोहम शाह और अभिनेत्री माही गिल के साथ पड़ोसी जिले ठाणे की एक लोकेशन पर जमकर हाथापाई और मारपीट की

19 जून 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
सबसे तेज अनुभव के लिए
अमर उजाला लाइट ऐप चुनें
Add to Home Screen
Election