मर्ज काटने की अनूठी कोशिश

ब्यूरो, अमर उजाला फर्रुखाबाद Updated Mon, 01 Dec 2014 11:44 PM IST
ख़बर सुनें
मरीजाें के जरिए मर्ज काटने की कोशिशें हो रही हैं। जो जमीनी काम सरकारी इंतजाम नहीं कर पा रहे, उसमें ‘कोती’ और ‘पंथी’ जुटे हैं।  जिले में 10-10 के समूह में 8 दस्ते एड्स से बचाव में लगे हैं। यह एमएसएम यानी गे हैं। इनक ी दुनिया में ‘कोती’ महिला लक्षण व ‘पंथी’ पुरुष लक्षण वाले लोगों को कहा जाता है।
इनके जरिए माह में औसतन 150 से 200 लोग लोहिया में एड्स जांच के लिए पहुंचते हैं। जिले में इस समय 295 एड्स रोगी हैं। इस साल 45 नए रोगी सामने आए हैं।
शहर के भीतर भी एक दुनिया बसर कर रही है। यह एमएसएम (गे) लोगों को एड्स के प्रति जागरूक करने में  लगे हैं। इनके दस्ते में सामान्य और एचआईवी पॉजीटिव भी शामिल हैं।
यह लोगों को एड्स से खतरे व बचाव की जानकारी देते हैं। एड्स की आशंका पर वह इन्हें लोहिया के एकीकृत परामर्श परीक्षण केंद्र पहुंचाते हैं। फीमेल सेक्स वर्कर दस्ते भी जागरूकता में लगे हैं। दस्ते में  शामिल होने वालों की उम्र 19 से 45 साल तक है। इनकी हर सप्ताह मीटिंगें भी होती हैं। इसमें यह रणनीति बनाते हैं।
एड्स से बचाव व जागरूक करने वाली संस्था रोज फाउंडेशन के प्रोजेक्ट मैनेजर रजित का कहना है कि एमएसएम यानी ‘कोती’ व ‘पंथी’ के लिए ऐसे लोगों की खोज आसान होती है।
आम लोग एड्स की आशंका पर यह इन्हें बता देते हैं जबकि सामान्य तौर पर इसे छिपाते हैं। इसके बाद चिन्हित लोगाें को लोहिया अस्पताल  पहुंचाया जाता है। एकीकृत परामर्श टेस्टिंग केंद्र में साल में ढाई से तीन हजार लोग एड्स की जांच के लिए पहुंचते हैं। काउंसलर नीतू वर्मा की मानें तो यह एड्स बचाव में मदद कर रहे हैं। यह  एकीकृत परामर्श परीक्षण केंद्र के संपर्क में भी रहते हैं।
 
यौन संक्रमण बड़ा खतरा
यौन संक्रमण से एड्स रोग सबसे ज्यादा फैल रहा है। रक्त चढ़ाने से रोग बढ़ने का प्रतिशत काफी कम है। रोगियाें में ड्राइवर, रिक्शा चालक, मजदूरों का तबका बड़ी संख्या में शामिल है।  

कारण                                  प्रतिशत
असुरक्षित यौन संक्रमण                 90
सुई से संक्रमण                           5
रक्त चढ़ाने से संक्रमण                   1
गर्भवती महिलाओं से संक्रमण            4

Spotlight

Most Read

City and States Archives

कांशीराम कालोनी में जमकर हंगामा

कालोनी में अपात्र लोगों की जांच करने गए थे एसडीएम और पीओ सभासद से हाथापाई, कालोनी के कई ब्लाकों में अपात्र किए हैं कब्जा

18 मई 2018

City and States Archives

chitrkoot

29 अप्रैल 2018

Related Videos

मुरादाबाद में स्वच्छता अभियान का 'आतंक', जेब में रखवाया मल

मुरादाबाद से इंसानियत को शर्मसार करने वाली खबर है।

15 जनवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen