विज्ञापन
विज्ञापन

खाल की तस्करी के लिए तेंदुए का किया था शिकार

chitrakoot Updated Tue, 23 Apr 2019 12:01 AM IST
तेंदुए की मौत के बाद वार्ता करते वन विभाग के अधिकारी।
तेंदुए की मौत के बाद वार्ता करते वन विभाग के अधिकारी। - फोटो : amar ujala
ख़बर सुनें

खास बातें

कंजरवेटर बोले, करंट लगाने की पुष्टि नहीं, आज डाक्टरों की टीम करेगी पोस्टमार्टम

विज्ञापन
विज्ञापन
सरैंया (चित्रकूट)। खाल की तस्करी के लिए तेंदुए का शिकार करने की बात जांच में सामने आने से हड़कंप मच गया। तेंदुए को मारने वाले दोनों भाइयों ने वारदात को अंजाम देने के दौरान ग्रामीणों को भी अंधेरे में रखा था। सोमवार को चित्रकूटधाम मंडल के कंजरवेटर ने डीएफओ के साथ मौका मुआयना किया। अफसरों का कहना है कि मंगलवार (आज) को तेंदुए के शव का पोस्टमार्टम बरेली और कानपुर के विशेषज्ञ डाक्टरों की टीम करेगी। इसके बाद ही तेंदुए के मारने की वीभत्सता का पता चल सकेगा। साथ ही तेंदुए ने गाय का शिकार करने की कोशिश की या नहीं का भी पता चलेगा। अफसरों का कहना है कि तेंदुए को करंट लगाकर नहीं मारा गया। इससे दोनों आरोपियों ने भी इनकार किया है। उधर, विभागीय कर्मियों ने तेंदुए का शिकार करने वाली कुल्हाड़ी को भी बरामद कर लिया है।
गौरतलब हो कि शनिवार (19 अप्रैल) को मानिकपुर थाना क्षेत्र के रैपुरा वनरेंज के गढ़चपा ग्राम पंचायत के मजरे ककरहुलीपुरवा निवासी दो भाइयों नरेंद्र और जितेंद्र ने ग्रामीणों की मदद से तेंदुए का शिकार कर शव जंगल में गड्ढा खोदकर दफना दिया था। रविवार को ककरहुलीपुरवा के ही कुछ ग्रामीणों ने मामले की जानकारी वन विभाग को दी, जिस पर वन विभाग के अफसरों और कर्मियों ने जंगल में पहुंचकर तेंदुए के शव को गड्ढे को खोदकर बाहर निकाला था। वन विभाग के अफसरों ने दोनों भाइयों को रविवार को ही हिरासत में ले लिया था। अफसरों को दोनों ने बताया था कि तेंदुए ने शनिवार की देरशाम उनकी गाय का शिकार करना चाहा तो उसे भगाया गया, लेकिन तेंदुए ने उल्टे नरेंद्र को ही शिकार बनाना चाहा, जिस पर उसके भाई जितेंद्र ने अन्य लोगों के साथ कुल्हाड़ी से वार कर मार डाला था। इसके बाद शव को जंगल में ले जाकर दफन कर दिया था।
सोमवार को चित्रकूटधाम मंडल के कंजरवेटर केके सिंह ने डीएफओ कैलाश प्रकाश, एसडीओ संजय अग्रवाल, रेंजर टीएन वर्मा व नफीस खां के साथ जंगल में जाकर मौका मुआयना किया। साथ ही पकड़े गए आरोपी दोनों भाइयों के अलावा गांव के कुछ और लोगों से पूछताछ की। कंजरवेटर ने बताया कि गाय पूरी तरह स्वस्थ है और घायल नरेंद्र के घाव भी गहरे नहीं हैं। कहा कि पूछताछ व मिले प्रमाणों के आधार पर तय है कि तेंदुए का शिकार योजना बनाकर किया गया है। खाल व अन्य अंग के हिस्से की तस्करी के लिए खाल छीलकर व नाखून काटकर गड्ढे में डाले गए थे। बताया कि वन्य जीव अधिनियम के तहत दोषी दोनों भाइयों का मेडिकल करा जेल भेज दिया गया, वहीं कुछ और आरोपियों की तलाश है। बताया कि फिलहाल प्रथम दृष्टया व पूछताछ से स्पष्ट है कि तेंदुए को घेरकर शिकार किया गया, पर करंट लगाने की बात अभी स्पष्ट नहीं है।
इंसेट---
मामले की जांच के लिए बनेगा पैनल
डीएफओ और एसडीओ ने कहा कि पूरे मामले को विभाग बेहद संजीदगी से ले रहा है। जांच के लिए पैनल बनेगा। इसके लिए आईवीआरआई व वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो टीम के अधिकारी भी जल्द ही चित्रकूट आएंगे। 23 मार्च को भी एक तेंदुआ, रीछ व बंदर की मौत मामले में कहा कि जांच जारी है।
 
कंजरवेटर बोले, करंट लगाने की पुष्टि नहीं, आज डाक्टरों की टीम करेगी पोस्टमार्टम

Recommended

शनि जयंती (03 जून 2019, सोमवार) के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्
Astrology

शनि जयंती (03 जून 2019, सोमवार) के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्

कैसे होगा करियर, कैसा चलेगा व्यापार, किसे मिलेगी तरक्की और किसे मिलेगा प्यार ! जानिए विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से
Astrology

कैसे होगा करियर, कैसा चलेगा व्यापार, किसे मिलेगी तरक्की और किसे मिलेगा प्यार ! जानिए विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

रजिस्ट्री रद्द नहीं कर सकते उपनिबंधक : हाईकोर्ट

हाईकोर्ट के तीन जजों की पूर्णपीठ ने अपने महत्वपूर्ण निर्णय में कहा है कि उपनिबंधक को बैनामा (रजिस्ट्री) रद्द करने का अधिकार नहीं है।

23 मई 2019

विज्ञापन

वर्ल्ड कप शुरू होने से पहले आई बुरी खबर, अलग अलग टीमों के 5 खिलाड़ी हुए घायल

विश्व कप शुरू होने वाला है लेकिन टीमों के साथ फैन्स के लिए भी बुरी खबर सामने आई है। एक ही दिन में कई अलग अलग टीमों के पांच खिलाड़ी चोटिल हो गए। देखिए पूरी रिपोर्ट।

25 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree