आमिर के नौहों पर छलकी आंखें

ब्ययूराो, अमर उजाला हरदाोई Updated Tue, 02 Dec 2014 12:41 AM IST
Aamir on nohe stream eyes
ख़बर सुनें
दिल्ली से आए सैयद अमीर हसन अमिर को सुनने पिहानी समेत आसपास के इलाकों से भारी संख्या में लोग जुटे। आमिर ने मंच पर आते ही अपना प्रसिद्ध नौहा, मां मैं प्यास हूं मां शुरू किया तो मातमदारों की आंखें छलक पड़ीं। इसके अलावा उन्होंने ‘चक्कियां पीस के ऐ लाल तुझे पाला है’ और ‘अलम देखो, अलम की शान देखो’ आदि नौहे पेश कर जंगे करबला की मंजरकशी की। आमिर जब पढ़ रहे थे तो मौजूद लोग रो रहे थे। जितनी देर वह माइक पर रहे, मातमदारों के हलक से सिसकियां निकलती रहीं। इसके अलावा यहां पर अंजुमन सज्जादिया महमूदाबाद ने नौहा, हर दौर में लहराएगा अलम अब्बास का, के साथ मातम किया।
कार्यक्रम में अंजुमन हैदरिया करबन (उन्नाव), तुल्लाबे जामिया अबूतालिब (सीतापुर) व रौनके अजा पिहानी ने भी मर्सिये पढ़कर मातम किया। इससे पहले मसजिदे मोहम्मदी से अंजुमन सज्जादिया (पियाबाग) ने अलम का जुलूस बरामद किया। प्रमुख मार्गों से भ्रमण के दौरान जुलूस में सैयदे सज्जाद की शबीहे ताबूत शामिल हुई। इसे अकीदतमंदों ने बोसे दिए। मसजिद में बरपा हुई मजलिस में शिया जामा मसजिद पिहानी के इमाम मौलाना फरमान अली ने कहा कि कामयाब जिंदगी वही है जो अल्लाह, रसूल और अहले बैत के बताए रास्ते के मुताबिक गुजर रही है। हमें चाहिए कि रसूल से वाबस्तगी के लिए अहले बैत का दामन थामें।
उन्होंने इमाम हुसैन के भाई हजरत अब्बास अलमदार की शहादत और प्यासी भतीजी बीबी सकीना की बेबसी को बयान कर अजादारों की आंखें नम कर दीं। भ्रमण के बाद देर शाम मसजिद पहुंच कर जुलूस का समापन हो गया। कार्यक्रम में कमर, मौलाना फरमान अली, शबीह हसन, आमिर व तौहीद आदि ने व्यवस्थाएं देखीं।

Spotlight

Most Read

City and States Archives

कांशीराम कालोनी में जमकर हंगामा

कालोनी में अपात्र लोगों की जांच करने गए थे एसडीएम और पीओ सभासद से हाथापाई, कालोनी के कई ब्लाकों में अपात्र किए हैं कब्जा

18 मई 2018

City and States Archives

chitrkoot

29 अप्रैल 2018

Related Videos

मुरादाबाद में स्वच्छता अभियान का 'आतंक', जेब में रखवाया मल

मुरादाबाद से इंसानियत को शर्मसार करने वाली खबर है।

15 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen