कहां जाएंगे 60 प्रतिशत से कम अंक वाले छात्र? 

ब्यूरो / अमर उजाला, देहरादून Updated Wed, 29 Jun 2016 10:28 AM IST
विज्ञापन
students who score less than 60 percent facing problem in admission
- फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
देहरादून के डिग्री कॉलेजों में दाखिले की दौड़ बेहद मुश्किल होती जा रही है। डीएवी में अभी तक एडमिशन प्रक्रिया का अता पता ही नहीं है। जबकि, डीबीएस और एसजीआरआर कॉलेज में एक सीट पर पांच से ज्यादा दावेदार सामने आ रहे हैं। ऐसे में 60 प्रतिशत से कम अंक वाले छात्रों के लिए मुश्किलें लाजिमी हैं।
विज्ञापन

डीएवी पीजी कॉलेज में नए सत्र की दाखिला प्रक्रिया छात्र आंदोलन की वजह से अभी अटकी हुई है। लेकिन यहां बीए जैसे कम छात्र संख्या वाले कोर्स में भी पहली कटऑफ 70 प्रतिशत से ऊपर जाती है। डीबीएस कॉलेज और एसजीआरआर कॉलेज के हालात तो इससे भी कठिन है। इस साल भी यहां 60 प्रतिशत से कम अंक वाले छात्रों के लिए मुश्किलें बढ़ने वाली हैं।
एसजीआरआर कॉलेज में अभी तक करीब 3500 आवेदन आए हैं, जिनमें 1800 छात्र 60 प्रतिशत से ऊपर अंकों वाले हैं। ऐसे में एक सीट पर पांच-पांच दावेदारों के बीच मेरिट की कड़ी प्रतिस्पर्धा होगी। इसी तरह डीबीएस पीजी कॉलेज में भी 2500 से ज्यादा आवेदन आ चुके हैं। यहां भी 1500 से ज्यादा छात्र 60 प्रतिशत से ऊपर वाले हैं। ऐसे में पहली कटऑफ ही छात्रों के पसीने छुड़ाने वाली होगी।
गत वर्ष कॉलेजों की पहली कटऑफ
डीएवी कॉलेज : बीए (70.40 प्रतिशत), बीकॉम (71.60 प्रतिशत), बीएससी सीबीजेड (78.20 प्रतिशत), बीएससी पीसीएम (83.60 प्रतिशत) और बीएससी पीएमएस (72.40 प्रतिशत)।
डीबीएस कॉलेज : बीएससी पीसीएम (82 प्रतिशत), बीएससी सीबीजेड (79 प्रतिशत) और बीए (69 प्रतिशत)।
एसजीआरआर कॉलेज : बीए (74 प्रतिशत), बीएससी सीबीजेड (79 प्रतिशत), बीएससी पीसीएम (89 प्रतिशत), बीकॉम (82 प्रतिशत)।

Published By : Nirmala Suyal
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X