जेपी मोर्गन ने भारतीय शेयरों को किया ओवररेट, सेंसेक्स 17000 के पार

Market Updated Thu, 21 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
market-opens-on-dull-note
ख़बर सुनें
देश के शेयर बाजारों में गुरुवार को आखिरी घंटे में तेजी का रुख रहा। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 135.93 अंकों की तेजी के साथ 17,032.56 पर और निफ्टी 44.45 अंकों की तेजी के साथ 5,165.00 पर बंद हुआ।
विज्ञापन

बताया जाता है कि जेपी मोर्गन ने भारतीय शेयरों का दर्जा 'न्यूट्रल' से बढ़ाकर 'ओवरवेट' कर दिया। बम्बई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 41.03 अंकों की गिरावट के साथ 16,855.60 पर खुला। सेंसेक्स ने 17,050.44 के ऊपरी और 16,799.63 के निचले स्तर को छुआ।
सेंसेक्स के 30 में से 25 शेयरों में तेजी रही। भेल (3.60 फीसदी), एसबीआई (2.89 फीसदी), एलएंडटी (2.30 फीसदी), स्टरलाइट इंडस्ट्रीज (2.16 फीसदी) और आईसीआईसीआई बैंक (2.07 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही। सेंसेक्स में गिरावट वाले शेयरों में प्रमुख रहे आरआईएल (2.58 फीसदी), टीसीएस (2.18 फीसदी), हिंडाल्को इंडस्ट्रीज (0.90 फीसदी), डॉ. रेड्डीज लैब (0.08 फीसदी) और जिंदल स्टील (0.03 फीसदी)।
नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक निफ्टी 23.20 अंकों की गिरावट के साथ 5,097.35 पर खुला। निफ्टी ने 5,170.40 के ऊपरी और 5,093.45 के निचले स्तर को छुआ। बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में भी तेजी रही। मिडकैप 48.11 अंकों की तेजी के साथ 6,002.48 पर और स्मॉलकैप 48.59 अंकों की तेजी के साथ 6,405.08 पर बंद हुआ।

बीएसई के 13 में नौ सेक्टरों में तेजी रही। रियल्टी (2.89 फीसदी), पूंजीगत वस्तु (2.18 फीसदी), बैंकिंग (2.06 फीसदी), बिजली (1.74 फीसदी) और सार्वजनिक कम्पनियां (1.33 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही। बीएसई में गिरावट वाले चार शेयरों में रहे तेल एवं गैस (0.89 फीसदी), सूचना प्रौद्योगिकी (0.19 फीसदी), उपभोक्ता टिकाऊ वस्तु (0.06 फीसदी) और प्रौद्योगिकी (0.01 फीसदी)।

बीएसई में कारोबार का रुझान सकारात्मक रहा। कुल 1658 शेयरों में तेजी और 1079 में गिरावट रही, जबकि 124 शेयरों के भाव में बदलाव नहीं हुआ। रुपये के गुरुवार को डॉलर के मुकाबले 56.57 के रिकार्ड निचले स्तर को छूने के बाद भी शेयर बाजारों में तेजी रही। विश्लेषकों और ब्रोकरों के मुताबिक निवेश बैंक जेपी मोर्गन द्वारा भारतीय शेयरों का दर्जा 'न्यूट्रल' से बढ़ाकर 'ओवरवेट' किए जाने के कारण बाजार तेजी के साथ बंद हुए।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us