विज्ञापन

महंगाई अभी और भड़केगी , बिगड़ेगा घरेलू बजट

Market Updated Fri, 15 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
inflation-will-raise-more-household-budget-will-spoil
ख़बर सुनें
महंगाई से परेशान आम आदमी को आने वाले दिनों में चावल, दाल और खाद्य तेल के लिए और ज्यादा खर्च करने पड़ेंगे। सरकार ने खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में 53 फीसदी तक की बढ़ोतरी कर दी है।
विज्ञापन

बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने इसे मंजूरी दे दी। इसके तहत खरीफ खरीद सीजन के दौरान धान किसानों को 1250 रुपये के एमएसपी के साथ 100 रुपये प्रति क्विंटल की दर से बोनस भी दिया जाएगा। धान में 15.7 फीसदी और ज्वार के एमएसपी में सर्वाधिक 53.1 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।
मंत्रिमंडल के फैसलों की जानकारी देते हुए गृह मंत्री पी. चिदंबरम ने बताया कि कृषि उपज की बढ़ी हुई लागत के आधार पर कृषि लागत एवं मूल्य आयोग (सीएसीपी) ने खरीफ फसलों के एमएसपी बढ़ाने की सिफारिश की थी। इसे मंत्रिमंडल ने मंजूर कर लिया है।
इसके तहत धान का एमएसपी 1080 रुपये से बढ़ाकर 1250 रुपये (100 रु बोनस अलग) प्रति क्विंटल किया गया है। इसी प्रकार ज्वार का एमएसपी 1500 रुपये तथा बाजरा व मक्का का एमएसपी 1175 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है।

चिदंबरम ने बताया कि उड़द व मूंगफली के एमएसपी में 1000 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है। इसके साथ ही उड़द का न्यूनतम समर्थन मूल्य 4300 रुपये प्रति क्विंटल और मूंगफली का एमएसपी 3700 रुपये प्रति क्विंटल हो गया है। सोयाबीन का एमएसपी 1600 से बढ़ाकर 2200 रुपये और सूरजमुखी का एमएसपी 2800 रुपये से बढ़ाकर 3700 रुपये प्रति क्विंटल किया गया है।

सरकार ने कपास उत्पादकों की ओर से कीमतें बढ़ाए जाने की मांग को ध्यान में रखते हुए इसके एमएसपी में 700 से 800 रुपये तक बढ़ोतरी की है। इसी प्रकार तिल का एमएसपी 3400 रुपये से बढ़ाकर 4200 रुपये प्रति क्विंटल किया गया है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us