डीजल, LPG कीमतों में फिलहाल वृद्धि नहीं

Market Updated Fri, 08 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
Diesel-LPG-prices-not-increase-at-the-moment
ख़बर सुनें
पिछले महीने पेट्रोल की कीमतों में एकसाथ की गई 7.54 रुपये की बढ़ोतरी के बाद से विपक्ष और सहयोगी दलों की आलोचना झेल रही केंद्र सरकार ने शुक्रवार को कहा कि डीजल, रसोई गैस (एलपीजी) और केरोसिन की कीमतों में वृद्धि का फिलहाल कोई इरादा नहीं है।
विज्ञापन

तेल एवं प्राकृतिक गैस मंत्री एस जयपाल रेड्डी ने संवाददाताओं को बताया कि डीजल, एलपीजी और केरोसिन के दाम बढ़ाने पर फिलहाल कोई विचार नहीं किया जा रहा है। यह पूछने पर कि प्रणव मुखर्जी की अगुवाई वाले मंत्रियों के उच्चाधिकार प्राप्त समूह (ईजीओएम) की बैठक के लिए कोई तिथि तय की गई है, रेड्डी ने कहा कि अभी तक बैठक की कोई तिथि नहीं रखी गई है। ईजीओएम की पिछले साल जून से ही बैठक नहीं हुई है।
24 मई को पेट्रोल की कीमतों में वृद्धि की आलोचना के बाद तेल विपणन कंपनियों ने इसी माह 2.02 रुपये प्रति लीटर की कमी भी की। मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने पेट्रोल में हुई वृद्धि को पूरी तरह से वापस लेने की मांग को लेकर 22 जून से जेल भरो आंदोलन का आह्वान किया है।
रेड्डी ने कहा कि वह डीजल की दोहरी मूल्य नीति के पक्ष में नहीं है। डीजल पर बढ़ रही सब्सिडी को देखते हुए वित्त मंत्रालय डीजल की कारों पर भारी कर लगाने पर विचार कर रहा है। इस बारे में वित्त मंत्रालय की आटो मोबाइल निर्माताओं के साथ मंगलवार को बैठक हुई थी लेकिन कोई निर्णय नहीं हुआ। निर्माता डीजल की कार पर कर लगाने के पक्ष में नहीं है। उनकी दलील है कि डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की जाए।

सरकारी तेल कंपनियों का कहना है कि वर्तमान में एक लीटर पेट्रोल बेचने पर उसे 14.09 रुपये का नुकसान हो रहा है। एलपीजी के 14.2 किलोग्राम के सिलेंडर पर यह 475 रुपये और केरोसिन पर 32.06 रुपये प्रति लीटर है। कंपनियों का कहना है कि वर्तमान में उन्हें तीनों उत्पादों पर रोजाना 475 करोड़ रुपये का नुकसान है। आईओसी, एचपीसीएल और बीपीसीएल को 2011-12 में 138,541 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। चालू वित्त वर्ष में इसके 178,498 करोड़् रुपये तक पहुंचने का अनुमान है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us