1 जुलाई से बढ़ जाएगा रेल ढुलाई भाड़ा

Market Updated Fri, 08 Jun 2012 12:00 PM IST
From-July-1-rail-transportation-freight-will-increase
ख़बर सुनें
रेल माल ढुलाई पर सेवा कर संबंधी बजट में किये गए प्रस्ताव को अमली जामा पहनाते हुए वित्त मंत्रालय ने 1 जुलाई से 12.5 फीसदी सेवा कर लगाने की घोषणा कर दी है। केंद्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीईसी) के चेयरमैन एस के गोयल ने उद्योग संगठन एसोचैम के एक कार्यक्रम में इसकी आधिकारिक जानकारी दी। सेवा कर इनपुट वस्तुओं और सेवाओं की 30 फीसदी कीमत पर लागू होगा जिससे भाड़े में 3.6 फीसदी बढ़ोतरी हो जाएगी।
गोयल ने कहा कि सेवा कर की नकारात्मक सूची को सही परिप्रेक्ष्य में देखा जाना चाहिए। इसे वित्त मंत्रालय की ओर से अतिरिक्त राजस्व उगाही के उपकरण के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए। मालूम हो कि सेवा कर की नकारात्मक सूची 1 जुलाई से लागू होने वाली है। सीबीईसी चेयरमैन ने कहा कि नकारात्मक सूची को लागू करना सेवा कर के दायरे को बढ़ाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। इसे लागू करने के पीछे सरकार की मंशा अप्रत्यक्ष करों के व्यापक प्रभावों को रोकना है।

इस मौके पर एसोचैम के अध्यक्ष राजकुमार धूत ने कहा कि सेवा कर की नकारात्मक सूची लागू होने से भविष्य में इसके बेहतर परिणाम आने का अंदाजा लगाया जा सकता है। उन्होंने उम्मीद जताई कि यह उद्योग जगत के हित में भी होगा। उन्होंने कहा कि सेवा कर उगाही को व्यापार के अनुकूल और परेशानी मुक्त बनाने के लिए सरकार को कुछ कड़े कदम उठाने की जरूरत है।

दूसरी ओर नॉर्थ ब्लॉक में वित्त मंत्रालय के दो कमरों में आज तड़के लगी आग से नष्ट होने वाले दस्तावेजों के बारे में जानकारी देते हुए गोयल ने कहा कि इस हादसे में कितने रिकॉर्ड और दस्तावेज नष्ट हुए हैं उसका पता लगाया जाएगा। और नष्ट हुए फाइलों को फिर से तैयार किया जाएगा। इसके अलावा सीबीईसी के संयुक्त सचिव वी के गर्ग ने नकारात्मक सूची पर अपना विचार पेश करते हुए यह भी बताया कि नई सेवाओं मसलन निर्माण क्षेत्र, रियल एस्टेट, मनोरंजन, पोत, परिवहन को इस ओर जोड़ा गया है।

Spotlight

Related Videos

VIDEO: इस गली क्रिकेट में ICC बना थर्ड अंपायर

गली क्रिकेट में कभी थर्ड अंपायर होते हुए सुना है। नहीं ना, लेकिन एक गली क्रिकेट में खुद ICC ने अंपायरिंग की और एक बच्चे को नियम के साथ बताया कि वो आउट क्यों है।

22 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen