हिमाचल में फर्म पर लगा 100 करोड़ रुपये का जुर्माना

Market Updated Sun, 03 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
Firm-was-fined-Rs-100-crore-in-Himachal
ख़बर सुनें
हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय द्वारा सोलन जिले में एक निजी फर्म को पर्यावरण को नुकसान पहुंचने के दृष्टिगत एक विद्युत संयंत्र को बंद करने का निर्देश दिए जाने के एक माह बाद इसी अदालत ने शुक्रवार को एक अन्य फर्म पर 100 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया।
विज्ञापन

एक पुनर्विचार याचिका पर विचार करते हुए न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति संजय करोल ने जयप्रकाश एसोसिएट्स लिमिटेड (जेएएल) से कहा कि वह कैप्टिव थर्मल पावर प्लांट (सीटीटीपी) के लिए आंशिक रूप से बने भवन में कोई संयंत्र न लगाए। पर्यावरण सम्बंधी मामलों की खंडपीठ ने अपने फैसले में विद्युत संयंत्र के पास मौजूद सीमेंट संयंत्र के खिलाफ फैसला देते हुए जेएएल पर 100 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया। अदालत ने जेएएल की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई 15 जून तक के लिए स्थगित कर दी है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us