अब आया एगमार्क युक्त सरकारी ‘जनता आटा’

Market Updated Thu, 24 May 2012 12:00 PM IST
Now-come-with-Agmark-official-Janta-Flour
महंगाई से जूझ रहे आम आदमी को सरकार ने राहत देने की कोशिश की है। गेहूं के बढ़ते स्टॉक को कम करने के लिए केंद्र सरकार ने रियायती दर पर ‘जनता आटे’ की बिक्री शुरू कराने की योजना बनाई है। केंद्र ने इस योजना के क्रियान्वयन के लिए सभी राज्य सरकारों को लागत मूल्य पर गेहूं देने की भी पेशकश की है। इसी के तहत बुधवार को दिल्ली में केंद्रीय भंडार के जरिए 144.50 रुपये प्रति बैग (दस किलो) पर एगमार्क युक्त चक्की आटे की बिक्री शुरू की गई।
राज्यों को सस्ता गेंहु देगा केंद्र
केंद्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री प्रो. केवी थॉमस ने रियायती दर पर आटे की बिक्री योजना की शुरुआत करते हुए बताया कि इसके लिए केंद्र सरकार राज्यों को खुले बाजार बिक्री योजना की कीमत पर गेहूं उपलब्ध कराएगी। जो राज्य भी अपने यहां आम आदमी के लिए रियायती दर पर आटे की बिक्री योजना को शुरू करना चाहेंगे, उन्हें केंद्र सरकार मांग के मुताबिक गेहूं देगी। फिलहाल दिल्ली सरकार ने इस प्रस्ताव को स्वीकार किया है।

ब्रांडेड आटों को टक्कर देगा ‘जनता आटा’
दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में स्थिति सभी केंद्रीय भंडार की दुकानों में इस आटे की बिक्री की जाएगी। इसे जनता आटा का नाम दिया गया है। गुणवत्ता के लिहाज से यह आटा बाजार में बिक रहे ब्रांडेड आटे के मुकाबले अच्छा है क्योंकि ज्यादातर ब्रांडेड आटे रोलर फ्लोर मिलों के हैं जबकि यह आटा चक्की का है। इसमें चोकर की मात्रा भी है जो कि स्वास्थ्य के लिहाज से उपयुक्त है।

Spotlight

Related Videos

सरकारी स्कूल के बच्चों ने सिखाई पहाड़ा याद करने की नई तरकीब, कहेंगे वाह

हम सबने बचपन में पहाड़ा सीखा है। सच कहें तो ये काम थोड़ा बोरिंग लगता था। लेकिन आज हम आपको एक ऐसा वीडियो दिखाएंगे जो पहाड़ा सिखाने के साथ-साथ मनोरंजन भी कराएगा...

23 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen