प्राकृतिक आपदाओं से वित्तीय संकट में भारत

Market Updated Thu, 16 Aug 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
india-at-greater-financial-risk-from-natural-disasters

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
ब्रिटेन की एक रिस्क कंसल्टेंसी ने अपने अध्ययन में दावा किया है कि भारत और फिलिपिंस समेत एशिया में आर्थिक शक्ति के रूप में उभर रहे देश प्राकृतिक आपदाओं के कारण वित्तीय संकट का सामना करते हैं। कंसल्टेंसी की ओर से जारी शीर्ष दस देशों की सूची में भारत को पांचवे स्थान पर रखा गया है।
विज्ञापन

ब्रिटिश कंसल्टेंसी मैप्लेक्रॉफ्ट ने 197 देशों पर किए गए विश्लेषण के आधार पर नेचुरल हैजार्ड्स रिलेटिव इकोनॉमिक एक्सपोजर इंडेक्स जारी किया है। इसमें बताया गया है कि भारत के कई इलाके सूखे की चपेट में हैं, जिसके कारण कृषि क्षेत्र में उत्पादन पर इसका बुरा प्रभाव पड़ा है।
अध्ययन के अनुसार बांग्लादेश, फिलिपिंस, डोमेनिकन रिपब्लिक, म्यांमार, वियतनाम, होंडुरास, लॉओस, हैती और निकारगुआ उन देशों की श्रेणी में हैं, जिनमें अत्यधिक आर्थिक गतिविधियों के कारण बाढ़, भूकंप और तूफान आते हैं।
मैप्लेक्रॉफ्ट के अनुसार अत्यधिक आर्थिक गतिविधियों और संसाधनों के दुरुपयोग का सीधा असर इन देशों में प्राकृतिक आपदाओं के रूप में दिख सकता है। जापान, अमेरिका, ताईवान और मैक्सिको आर्थिक विकास के लिए हुए बदलावों के कारण सबसे अधिक प्राकृतिक आपदाओं का शिकार हुए हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us