विज्ञापन

हड़ताली पायलटों के लौटने का इंतजार नहीं

Corporate Updated Mon, 18 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
no-wait-for-return-of-striking-pilots
ख़बर सुनें
एयर इंडिया के हड़ताली पायलटों को चेताते हुए नागरिक उड्डयन मंत्री अजित सिंह ने कहा है कि सरकार अब पायलटों के काम पर लौटने का इंतजार नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि हम अब इस मामले को पीछे छोड़कर आगे बढ़ने की योजना पर काम कर रहे हैं।
विज्ञापन

पायलटों और अन्य कर्मचारियों को उन्होंने याद दिलाया कि एयर इंडिया से ही उन्हें रोजी रोटी मिल रही है। एयर इंडिया को अब कोई अतिरिक्त सरकारी मदद नहीं मिलने वाली। यदि कंपनी के हालात नहीं सुधरते हैं तो स्टाफ का गुजारा कैसे होगा। उन्होंने कहा कि हम हड़ताली पायलटों का इंतजार नहीं कर रहे। हम आगे की योजनाएं बना रहे हैं।
उन्होंने मिसाल देते हुए कहा कि वी-737 या फिर एयरबस-320 विमान के पायलटों को तीन से छह माह में प्रशिक्षित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि एयर इंडिया को फिर से खड़ा करने के लिए धर्माधिकारी समिति की रिपोर्ट को लागू करते समय हमें बहुत धैर्य रखना होगा। साथ ही हमें दृढ़ भी रहना होगा क्योंकि रास्ते में मुश्किलें भी आएंगी।
हालांकि अजित ने कहा कि यदि पायलट काम पर लौटते हैं तो सरकार उनकी बात सुनने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि वह नहीं समझ पा रहे हैं कि पायलट क्यों हड़ताल पर गए, जबकि इसके लिए कोई मुद्दा ही नहीं था। यदि उन्हें धर्माधिकारी रिपोर्ट पर ऐतराज था, तो इस पर तो हम पहले ही चर्चा शुरू कर चुके हैं।

अजित ने कहा कि पायलटों ने हड़ताल का कोई नोटिस नहीं दिया है। हाईकोर्ट भी पायलटों से काम पर लौटने को कह चुका है। उनकी हड़ताल अवैध है। मालूम हो कि इंडियन पायलट्स गिल्ड (आईपीजी) से जुड़े करीब 400 पायलट 7 मई को सिक लीव पर चले गए थे। एयर इंडिया प्रबंधन इनमें से 101 पायलटों को बर्खास्त कर चुका है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us