बंद करें होम लोन पर प्री पेमेंट पेनाल्टी: RBI

Banking-Insurance Updated Wed, 06 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
No-pre-payment-penalty-on-home-loan
ख़बर सुनें
होम लोन धारकों को आरबीआई ने मंगलवार को बड़ी राहत दी। आरबीआई ने बैंकों से कहा है कि वे फ्लोटिंग दरों पर लिए गए होम लोन के प्री-पेमेंट पर पेनाल्टी लगाना तत्काल बंद करें।
विज्ञापन

आरबीआई ने सख्ती का संकेत देते हुए यह भी साफ कर दिया है कि अब बैंकों को ऐसा करने की इजाजत नहीं दी जाएगी। आरबीआई के संज्ञान में आया कि दामोदरन समिति ने पाया कि होम लोन के समय पूर्व भुगतान पर बैंक शुल्क लगा रहे हैं, जबकि ग्राहक इसका लगातार विरोध करते रहे हैं।
आरबीआई ने माना कि इस तरह का शुल्क लोन धारक को सस्ता कर्ज हासिल करने से रोकने का कदम है। ब्याज दरें जब कम हो रही हों तो बैंकों को मौजूदा लोन धारकों को सस्ती ब्याज दरों का लाभ देना चाहिए, लेकिन बैंक ऐसा नहीं कर रहे हैं।
आरबीआई ने कहा है कि इस तरह के शुल्क या पेनाल्टी को खत्म करने से मौजूदा और नए ग्राहकों के बीच भेदभाव कम होगा और बैंकों के बीच प्रतिस्पर्धा भी बढ़ेगी, जिससे फ्लोटिंग दर वाले होम लोन के लिए बेहतर ब्याज दरें सामने आएंगी।

सर्कुलर में कहा गया है कि हालांकि कई बैंकों ने पिछले कुछ समय में खुद ही फ्लोटिंग रेट वाले होम लोन के समय पूर्व भुगतान पर पेनाल्टी लगाना बंद कर दिया है। लेकिन पूरे बैंकिंग तंत्र में समानता सुनिश्चित करना जरूरी है।

कुछ बैंक होम लोन के प्री-पेमेंट पर 1 से 2 फीसदी का शुल्क वसूल कर रहे हैं। इसमें कहा गया है कि आरबीआई ने 2012-13 के लिए वार्षिक मौद्रिक नीति में बैंकों को प्री-पेमेंट पर पेनाल्टी लगाने की अनुमति नहीं देने का प्रस्ताव किया था। इसमें कहा गया था कि इस बारे में दिशानिर्देश बाद में जारी किए जाएंगे।

पिछले साल बैंकों के एक सम्मेलन में सहमति बनी थी कि बैंकों को होम लोन के प्री पेमेंट पर कोई शुल्क नहीं वसूलना चाहिए। इससे पहले हाउसिंग फाइनेंस नियामक नेशनल हाउसिंग बैंक (एनएचबी) भी सभी वित्तीय संस्थाओं को निर्देश दे चुका है कि वे होम लोन के प्री-पेमेंट पर पेनाल्टी नहीं लगाएं।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us