तीसरी बड़ी कंपनी बनना चाहती है रिलायंस लाइफ

Banking-Insurance Updated Thu, 16 Aug 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
reliance-life-wants-to-become-third-largest-company

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
रिलायंस लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड ने अगले तीन साल में देश की निजी क्षेत्र की तीसरी सबसे बड़ी जीवन बीमा कंपनी बनने की रणनीति तैयार की है। इसके तहत कंपनी ने तीन सूत्री रणनीति तैयार की है। इसमें सभी बीमाधारकों के साथ साल में एक बार मुलाकात, ग्राहकों की जरूरत के लिए उत्पाद देने के लिए लाइफ प्लाजा और कंपनी के वेतन पर फुलटाइम इंश्योरेंस एडवाइजर की नियुक्ति करना शामिल है।
विज्ञापन

अपने मौजूदा ग्राहकों तक पहुंचने के लिए कंपनी ने रिलायंस प्लस क्लब नाम की सेवा लांच की है, जो देश में पहली बार किसी बीमा कंपनी द्वारा शुरू की गई सेवा है। इसके साथ ही कंपनी ने इक्विटी में भागीदारी वाली जापानी सहयोगी कंपनी निप्पन लाइफ इंश्योरेंस की खासियत वाली लाइफ प्लाजा सेवा लांच की है। वहीं कंपनी अपने ग्राहकों तक सीधे पहुंचने की रणनीति के तहत फुलटाइम एडवाइजर नियुक्त करेगी और इनको वेतन पर रखा जाएगा। चालू साल में कंपनी ऐसे 5,500 एडवाइजरों की नियुक्ति करेगी। यहां पर रिलायंस लाइफ प्लस की लांचिंग के दौरान रिलायंस लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर और प्रेसीडेंट मलय घोष ने यह जानकारी दी।
उन्होंने बताया कि हम एक बीमा पॉलिसी सेलिंग कंपनी के बजाय एक फाइनेंशियल प्लानिंग सॉल्यूशन कंपनी के रूप में स्वयं को स्थापित करना चाहते हैं। साथ ही हमारा लक्ष्य देश की सबसे प्रतिष्ठित बीमा कंपनी बनना है। इसके लिए रिलांयस लाइफ इंश्योरेंस में पिछले साल 26 फीसदी इक्विटी भागीदारी खरीदने वाली जापान की सबसे बड़ी बीमा कंपनी निप्पन लाइफ इंश्योरेंस के अनुभव से मदद मिलेगी, जिसके पास सौ साल से अधिक का इसका अनुभव है। इसके अनुभव का उपयोग हम रिलेशनशिप मजबूत करने और डिस्ट्रीब्यूशन दोनों में कर रहे हैं। बीमा प्लस क्लब हमने इसके सफल अनुभव के आधार पर लांच किया है।
हमारे 15,000 कर्मचारी और एक लाख एजेंट अपने सभी 95 लाख पॉलिसीधारकों तक पहुंचेंगे। चालू साल में हम दस लाख पॉलिसीधारकों तक पहुंचेंगे। कोई भी नया पॉलिसीधारक लाइफ प्लस का सदस्य बन जाएगा। हमारे प्रतिनिधि इन पॉलिसीधारकों को उनकी जरूरत के आधार पर उत्पाद लेने की सलाह देंगे न कि हम अपने उत्पाद सीधे उन्हें बेचेंगे। साथ ही यह मुलाकात केवल बीमा पॉलिसी बेचने के लिए नहीं होगी, बल्कि यह उनकी फाइनेंशिल प्लानिंग की मदद के लिए होगी, जिसमें हमारा बैक आफिस कर्मचारी की मदद करेगा।

दूसरा बड़ा कदम डिस्ट्रीब्यूशन चैनल को मजबूत करने का है। इसके लिए हम इस साल 5,500 इंश्योरेंस एडवाइजर भर्ती करेंगे, जिनको हम हर माह वेतन देंगे। यह वेतन 2,500 से 5,000 रुपये प्रति माह तक होगा। उनका कमीशन और इंसेंटिव इससे अलग होगा। पिछले साल हमने 20 ब्रांचों में पायलट प्रोजेक्ट के तहत ऐसे 400 लोगों की नियुक्ति की थी, जो कामयाब रहा और इस साल हम 220 ब्रांच में इनकी नियुक्ति करेंगे। वहीं डिस्ट्रीब्यूशन को मजबूत करने के लिए हम लाइफ प्लाजा खोल रहे हैं।

यहां पर हमारे अधिकारी ग्राहकों को बीमा और उनकी पूरी फाइनेंशियल प्लानिंग की जानकारी देंगे। हर जोनल ऑफिस के तहत ऐसे 25 लोग होंगे जो हर रोज छह घंटे शाम चार बजे से 10 बजे तक यह सर्र्विस देंगे। बीमा उद्योग के बारे में उन्होंने कहा कि चालू साल में प्रीमियम आय में 10 फीसदी की दर से बढ़ोतरी की संभावना है, क्योंकि बीमा उद्योग भी सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी), महंगाई दर, ब्याज दरों और कैपिटल मार्केट के माहौल पर ही काम करता है। हालांकि जीवन बीमा कंपनियों का मुनाफा इस साल बढ़ने की संभावना उन्होंने व्यक्त की।

महिलाएं संभालेंगी फेस टू फेस योजना की कमान
लोगों को बेहतर ढंग से चीजें समझा कर खरीदारी के लिए राजी करने की महिलाओं की दक्षता ने रिलायंस लाइफ इंश्योरेंस को खासा प्रभावित किया है। यही वजह है कि फेस टू फेस चैनल के जरिये कारोबार को तेजी से बढ़ाने की योजना के तहत कंपनी ने महिला कर्र्मचारियों की नियुक्ति का फैसला किया है। महिलाओं को लाइफ प्लानिंग ऑफिसर के रूप में रखा जा रहा है।

कंपनी अगले छह माह में 500 स्थानों पर इनकी नियुक्ति करेंगे। इनको वेतन के साथ कमीशन और इंसेंटिव भी दिए जाएंगे। मलय घोष के मुताबिक निप्पन में इस कार्र्य को महिलाओं ने बहुत कामयाबी से अंजाम दिया है और हम इसी कामयाबी को भारत में दोहराना चाहते हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us