बीएसएनएल पर भरोसा किया तो पछताना पड़ेगा

महाकुंभ नगर (इलाहाबाद)/अमर उजाला ब्यूरो Updated Fri, 25 Jan 2013 04:31 PM IST
विज्ञापन
trust on bsnl may become fraud

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
बीएसएनएल ने महाकुंभ मेला क्षेत्र में बेहतर नेटवर्क का दावा किया है लेकिन इस दावे पर भरोसा किया तो अपनों से बात करना मुश्किल होगा। बीएसएनएल ने मेला क्षेत्र में 35 मोबाइल टावर (बीटीएस) लगाए हैं। प्रत्येक की क्षमता तकरीबन 1800 मोबाइल को नेटवर्क उपलब्ध कराने की है।
विज्ञापन


इस हिसाब से मेला क्षेत्र में एक समय में एक साथ 63 हजार लोग मोबाइल पर बात कर सकेंगे। अगले दो दिन में मेला क्षेत्र में साधु-संतों के साथ तकरीबन 12 से 15 लाख कल्पवासी भी आ जाएंगे। ऐसे में उन्हें मोबाइल नेटवर्क की समस्या से जूझना पडे़गा।


मेला क्षेत्र में बीएसएनएल के मोबाइल अभी से धोखा देने लगे हैं। मोबाइल पर किसी से बात करने के लिए तीन-चार दफे प्रयास करने के बाद भी बड़ी मुश्किल से संपर्क होता है तो बीच में फोन कट जाता है या फिर आवाज साफ नहीं आती। यह समस्या अन्य कंपनियों की मोबाइल सेवा में भी है।

काफी देर तक प्रयास करने के बाद भी लोगों की मोबाइल पर बात नहीं हो पा रही है। मजे की बात यह कि इस संबंध में किसी ने शिकायत करने की कोशिश तो मोबाइल से पैसे भी कट जाते हैं और समस्या जस की तस बनी रहती है।

पंडित भानु प्रताप नारायण मिश्र के साथ इसी तरह की घटना हुई। उन्होंने मोबाइल नेटवर्क के संबंध में शिकायत की तो  ‘बीपी हंगामा’ पर मैसेज आया की आप की मदद नहीं कर सकते और उनके मोबाइल से 60 रुेपए भी कट गए। श्री मिश्र जैसे सैकड़ों लोग मेला क्षेत्र में इस समस्या से परेशान हैं।

बीएसएनएल के मंडल अभियंता बीके श्रीवास्तव का कहना है कि नेटवर्क को लेकर फिलहाल किसी तरह की दिक्कत नहीं है। मेला क्षेत्र में 34 बीटीएस पूरी क्षमता से काम कर रहे हैं। बताया कि इससे ज्यादा बीटीएस नहीं लगाए जा सकते क्योंकि एक से दूसरे टावर के बीच में कम से कम 300 मीटर की दूरी होनी चाहिए। उम्मीद जताई कि आगे नेटवर्क की समस्या नहीं होगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X