विज्ञापन

सीरियल किलर ने किए कई चौंकानेवाले खुलासे, बताया लूट के बाद ट्रक यूपी-बिहार में ही क्यों बेचता था

क्राइम डेस्क, अमर उजाला, भोपाल Updated Mon, 10 Sep 2018 11:55 AM IST
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें
30 हत्याओं का जुर्म कबूल चुके सीरियल किलर आदेश खामरा ने पुलिस की पूछताछ में की सनसनीखेज खुलासे किए हैं। ट्रक लूटने और उसके ड्राइवर और हेल्पर को मारने वाला आदेश खामरा अपने पूरे गिरोह के साथ काम करता था। इन्वेस्टिगेशन में बिलखिरिया पुलिस को पता चला है कि चार-पांच राज्यों में फैले हाईवे गैंग के नेटवर्क को कोई एक सरगना ऑपरेट नहीं करता। 
विज्ञापन
कई छोटे-छोटे गिरोह मिलकर करते हैं अपराध 

हाईवे में लूट मचाने वाले उसके गिरोह में कई छोटे-छोटे गैंग थे जिनकी अलग-अलग जिम्मेदारी होती थी। गिरोह के कुछ सदस्य ट्रक ड्राइवर-हेल्पर की हत्या करते, एक अगल गैंग लूट का माल बेचता, कुछ अलग सदस्य ट्रक को बेचते। इस गिरोह के सभी सदस्यों की जिम्मेदारी बंटी हुई थी और यह सब कुछ योजना के मुताबिक होता था। 

आदेश खामरा का लुटेरा गिरोह रात के 11 बजने का इंतजार करता जब नो एंट्री खुल जाती थी। इसके बाद ही किसी ड्राइवर-क्लीनर को नशीला पदार्थ पिलाकर बेहोश करते थे और शहर से बाहर निकल जाते थे। 11 मील से लूटे गए ट्रक को भी वे समसापुर, सिरोंज, राजगढ़, ब्यावरा, मुंगावली, चंदेरी, गुना, ग्वालियर, फतेहपुर, पटना फिर सिलिगुड़ी तक ले गए थे। करीब 1500 किमी के सफर के बीच में मौका पाकर वे ड्राइवर-क्लीनर को मार डालते थे। ट्रक के सामान ग्वालियर में बेचा जाता था, जबकि ट्रक उप्र, बिहार या नॉर्थ-ईस्ट के राज्यों में बेचा जाता था। 

रविवार को आईजी जयदीप प्रसाद के सवाल पर आदेश ने बताया, "सर मेरे जैसे देशभर में कई आदेश ये काम कर रहे हैं। इस आधार पर पुलिस का मानना है कि इस मामले में पड़ताल आगे बढ़ने पर एक बड़े नेटवर्क का खुलासा हो सकता है। इसके लिए कई राज्यों की पुलिस मिलकर साथ काम कर रही है। 

शराब दुकान पर हुई थी जयकरण-आदेश की दोस्ती 

सिर्फ आठ महीने पहले ही आदेश और जयकरण की दोस्ती हुई है। जनवरी 2018 में मंडीदीप की शराब दुकान पर उसकी मुलाकात जयकरण से हुई। उस वक्त जयकरण फोन पर किसी को ट्रक ड्राइवर मुहैया करवाने की बात कर रहा था। इसके बाद दोनों ने मिलकर कई वारदातों को अंजाम दिया। हालांकि बाद में जयकरण ने अपना नया गैंग तैयार कर लिया था, जो बिलखिरिया पुलिस ने पकड़ लिया। इस वारदात को अंजाम देने में जयकरण ने आदेश की मदद नहीं ली थी। 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

सीरियल किलर ने पुलिस को गिनाई उनकी गलतियां

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Lucknow

रोडवेज व पतंजलि में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों ठगे, ईमेल आईडी का इस्तेमाल कर करता था खेल

ठग संस्थानों से मिलती-जुलती ई-मेल आईडी पर आवेदन के साथ पंजीकरण के 500 रुपये जमा कराता। सिक्योरिटी मनी के नाम पर खाते में 10 हजार रुपये जमा कराने के बाद डाक से फर्जी नियुक्ति भेज देता था।

22 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

एशिया कप 'सुपर संडे' में भारत-पाक की भिड़ंत समेत इन खबरों पर रहेगी हमारी नजर

राफेल डील पर आगे क्या होगा बवाल, एशिया कप में भारत-पाक के बीच भिड़ंत समेत इन बड़ी खबरों पर रहेगी हमारी नजर

22 सितंबर 2018

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree