लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Bashindey ›   No processions or bike rallies on Shivaji Jayanti in Maha; 500 people can attend ceremony: Govt

शिवाजी जयंती: जुलूस और बाइक रैली निकालने की इजाजत नहीं, समारोह में शामिल हो सकेंगे 500 लोग 

पीटीआई, मुंबई Published by: Amit Mandal Updated Mon, 14 Feb 2022 09:59 PM IST
सार

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस संबंध में गृह विभाग के एक प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

शिवाजी जयंती 2021
शिवाजी जयंती 2021 - फोटो : Facebook
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

महाराष्ट्र में 19 फरवरी को छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती 'शिव जयंती' के अवसर पर एक समारोह में 500 लोग और 'शिव ज्योति' दौड़ में कम से कम 200 लोग भाग ले सकते हैं। दिशानिर्देशों के अनुसार, राज्य के गृह विभाग ने लोगों से मौजूदा कोविड-19 स्थिति को देखते हुए बाइक रैलियां या जुलूस निकालने और बड़े पैमाने पर सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित नहीं करने को कहा है।



एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस संबंध में गृह विभाग के एक प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। ठाकरे ने लोगों से सार्वजनिक स्वास्थ्य संबंधी मानदंडों का पालन करते हुए 17 वीं शताब्दी के योद्धा राजा की जयंती मनाने का आग्रह किया है। बयान में कहा गया है कि गृह राज्य मंत्री शंभूराज देसाई ने शिव जयंती के मद्देनजर विशेष मामले के रूप में मुख्यमंत्री को प्रस्ताव सौंपा था।


बाद में जारी अपने दिशा-निर्देशों में गृह विभाग ने लोगों से राज्य में मौजूदा कोविड-19 स्थिति को देखते हुए बाइक रैलियां या जुलूस नहीं निकालने को कहा है।  सरकार ने कहा कि इसके बजाय सामाजिक दूरियों के मानदंडों का पालन करके योद्धा राजा की मूर्तियों व छवियों पर माल्यार्पण जैसे कार्यक्रम आयोजित किए जा सकते हैं।

विभाग ने महसूस किया कि छत्रपति शिवाजी महाराज के भक्त शिवनेरी किले में एक साथ आते हैं जहां योद्धा राजा का जन्म हुआ था या अन्य किले में 18 फरवरी की मध्यरात्रि को उनकी जयंती मनाने के लिए आते हैं। विभाग ने कहा कि वर्षगांठ बड़ी संख्या में एकत्र हुए बिना मनाई जानी चाहिए। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00