दादा की मौत के बाद छोड़ी IT की नौकरी, 27 साल की उम्र में बन गई ‘इंडियन सुपरहीरोज’

नंद राम, अमर उजाला Updated Fri, 09 Feb 2018 03:35 PM IST
divya shetty women entrepreneurs business
divya shetty
जो लोग पर्यावरण हित की बात सोचते हैं, उसके लिए कुछ अलग करने की हिम्मत भी दिखाते हैं। कुछ अलग करते हैं और लोग उनके मुरीद हो जाते हैं। कोयम्बटूर के आईटी प्रोफेशनल दिव्या शेट्टी भी उन्हीं में एक हैं। रिसाइकल्ड पेपर, इडिबल फूड कलर, फ्रूट फ्लेवर से तैयार बायोडिग्रेबल पेंसिल को ईजाद करने के पीछे का उद्देश्य यही था कि पेड़ बचे रहें। जंगल रहेंगे, तभी पर्यावरण की सुरक्षा हो सकेगी। 
दो वर्ष पूर्व बंगलुरू की एक आईटी कंपनी में कार्य करने वाली 27 वर्षीय दिव्या शेट्टी बताती हैं, ‘जब मैं आठ साल की थी, तब मेरे दादाजी ने फसल में नुकसान होने के कारण आत्महत्या कर ली थी। इस घटना का मेरे मन पर बहुत गहरा असर पड़ा और तभी मैंने किसान समुदाय के लोगों औैर पर्यावरण के लिए कुछ करने की ठानी।

मैंने 2015 में आईटी की नौकरी छोड़ने का फैसला किया और अपने दोस्त विष्णुवर्धन के साथ मिलकर ‘इंडियन सुपरहीरोज’ के नाम से एक सोशल प्लेटफॉर्म की शुरुआत की, जिसका उद्देश्य लोगों को ऑर्गेनिक चीजों, बिना नुकसान की खेती और किराए पर खेती करने आदि के बारे में बताना था।
आगे पढ़ें

Spotlight

Most Read

National

सुहास शिवन्नाः स्कूल से जोड़ने के लिए बच्चों को मेट्रो में घुमाया

मुझे इस हकीकत का जब पता चला, तो मैंने अपनी जिम्मेदारी समझते हुए आदिवासी बच्चों द्वारा स्कूल छोड़ने के कारण जानना चाहा।

13 फरवरी 2018

Related Videos

सुबह तक की सारी खबरों का राउंड अप 18 फरवरी 2018

‘यूपी न्यूज’ बुलेटिन में देखिए उत्तर प्रदेश के हर गांव हर शहर की छोटी-बड़ी खबरें रोजाना सुबह 7 और शाम 7 बजे सिर्फ अमर उजाला टीवी पर। अमर उजाला टीवी पेज पर एक क्लिक पर जानिए यूपी की ताजा-तरीन खबरें और दें अपनी राय, सुझाव और कमेंट्स।

18 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen