लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Epaper in Madhya Pradesh
Hindi News ›   Madhya Pradesh ›   Black marketing in the epidemic: Remdacivir injections were sold in Indore for 20 thousand, STF arrested three

महामारी में भी कालाबाजारी: इंदौर में 20 हजार में बेच रहे थे रेमडेसिविर इंजेक्शन, तीन धरे गए

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, भोपाल Published by: सुरेंद्र जोशी Updated Fri, 16 Apr 2021 12:19 AM IST
सार

  • मप्र में कालाबाजारी पर कसा शिकंजा
  • देश के कई हिस्सों में इंजेक्शन की किल्लत

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर
विज्ञापन

विस्तार

मानवता के लिए खतरा बन चुकी कोरोना महामारी के दौर में भी कुछ लोग कालाबाजारी से बाज नहीं आ रहे हैं। कोरोना के इलाज में कारगर रेमडेसिविर इंजेक्शन की किल्लत के बीच मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में इसकी कालाबाजारी का मामला सामने आया है।  मध्य प्रदेश पुलिस के विशेष कार्य बल (एसटीएफ) ने कोविड-19 के इलाज में इस्तेमाल होने वाली रेमडेसिविर दवा की कथित कालाबाजारी में इंदौर में मेडिकल स्टोर संचालक समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया।



इन आरोपियों को ऐसे वक्त पकड़ा गया, जब राज्य भर में रेमडेसिविर की भारी किल्लत है और मरीजों के परेशान परिजन इसकी कालाबाजारी की लगातार शिकायतें कर रहे हैं। एसटीएफ की इंदौर इकाई के पुलिस अधीक्षक मनीष खत्री ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर जाल बिछाकर पकड़े गए आरोपियों की पहचान राजेश पाटीदार, ज्ञानेश्वर बारस्कर और अनुराग सिंह सिसोदिया के रूप में हुई है।


निर्यात के लिए थे इंजेक्शन

आरोपियों के कब्जे से रेमडेसिविर की दो अलग-अलग ब्रांड की 12 शीशियां बरामद की गई हैं। शीशियों के पैकेट पर छपा है कि इनका उत्पादन "केवल निर्यात के लिए" किया गया है। खत्री ने बताया, 'इन शीशियों पर रेमडेसिविर दवा का अधिकतम खुदरा मूल्य (एमआरपी) नहीं छपा है। लेकिन आरोपी इसकी एक शीशी को 20,000 रुपये में बेचने की कोशिश कर रहे थे।'  उन्होंने बताया कि आरोपियों में शामिल सिसोदिया मेडिकल स्टोर चलाता है, जबकि पाटीदार पेशे से मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव है।


पुलिस अधीक्षक के मुताबिक शुरुआती जांच में पता चला है कि आरोपियों ने इंदौर के अलावा पड़ोसी धार जिले में भी रेमडेसिविर की शीशियां ऊंचे दामों पर बेची हैं। मामले में एसटीएफ की विस्तृत जांच जारी है।

विज्ञापन


भोपाल के भदभदा विश्राम घाट पर 88 अंतिम संस्कार
मप्र में भी कोरोना की दूसरी लहर कहर मचाए हुए हैं। बड़ी संख्या में संक्रमित मिलने के साथ ही मौतों का भी सिलसिला जारी है। गुरुवार को भोपाल के भदभदा विश्राम घाट में 88 शवों का अंतिम संस्कार हुआ। इनमें से 72 कोरोना संक्रमित थे और 16 सामान्य। इन 72 कोरोना मृतकों में 45 भोपाल के और 27 बाहर के थे। 

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00