बोले रमाशंकर के पुत्र, 'सिस्टम की गड़बड़ी से मारे गए मेरे पिता'

बीबीसी Updated Wed, 02 Nov 2016 03:18 PM IST
Bhopal jail break: ramashankar yadav son says, my father's death is system failure
- फोटो : bbc
विज्ञापन
ख़बर सुनें
भोपाल में 8 सिमी सदस्यों के जेल से भागने के दौरान मारे गए हवलदार रमाशंकर यादव के घर अब मातम पसरा है, लगभग एक महीने बाद उनकी बेटी सोनिया यादव की शादी होने वाली थी, लेकिन अब सारी खुशी मातम में बदल चुकी है।
विज्ञापन


भोपाल से स्थानीय पत्रकार शुरैह नियाज़ी ने जब यादव परिवार से मुलाक़ात की, तो पाया कि रमाशंकर की बेटी सोनिया यादव इस हादसे के बाद जैसी टूट सी गई हैं।

यादव परिवार के लोग इस हादसे पर ज़्यादा कुछ बोलना नहीं चाहते, लेकिन उनके छोटे बेटे प्रभु यादव का मानना है कि सिस्टम की गड़बड़ी का ख़ामियाज़ा उनके पिता को उठाना पड़ा।

रमाशंकर के बेटे ने सिस्टम को दिया दोष

उन्होंने बीबीसी को बताया, "सिस्टम की गड़बड़ी की वजह से वो (क़ैदी) बाहर निकल गए, उन्होंने हथियार बना लिए, चादर निकाल ली। ये सब सिस्टम की ही तो गड़बड़ी है।"

प्रभु यादव कुछ और सवाल भी उठाते हैं, उन्होंने कहा, "सब जानते हैं कि मैनपावर की कमी है। लेकिन जो मैनपावर है, उसका इस्तेमाल किस तरह से और कहां किया जा रहा है ये तो विभाग ही बता सकता है।"

उन्होंने ये भी कहा कि जिस जगह पर उनकी (रमाशंकर की) तैनाती थी, वहां किसी नौजवान को तैनात किया जाना चाहिए था, ना कि उनके पिता जैसे किसी उम्रदराज़ व्यक्ति को। उनका कहना है कि रमाशंकर यादव, दिल की बीमारी से जूझ रहे थे और काफी बीमार रहते थे।

मंगलवार को किया गया रमाशंकर का अंतिम संस्कार

वहीं असम में सेना में हवलदार के पद पर तैनात रमाशंकर का बड़ा बेटा शंभू यादव इस मसले पर कुछ भी नही बोलना चाहता है, उन्होंने सिर्फ़ इतना कहा, "बहुत सारे विषय जांच के हैं, स्टाफ को देखना है कि वो कैसे निकले और किन हालात में ये घटना हुई। मैं इस पर कुछ ज्यादा बताने की स्थिति में नहीं हूं।"

रमाशंकर यादव का अंतिम संस्कार मंगलवार को कर दिया गया, मंगलवार सवेरे अधिकारियों और नेताओं का जमावड़ा लगा रहा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी उनके घर पहुंचे, उन्होंने विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा, "देश के कुछ नेताओं को शहीदों की शहादत नहीं दिखती और वो वोट बैंक की राजनीति कर रहे हैं....ऐसी राजनीति पर लानत है।"

भोपाल में सोमवार को सिमी के 8 कार्यकर्ताओं की कथित मुठभेड़ में मौत हो गई थी, ये भोपाल सेंट्रल जेल में दीपावली की रात हवलदार रमाशंकर यादव की हत्या कर जेल से फरार हुए थे। उसके बाद पुलिस ने भोपाल के बाहर एक मुठभेड़ में इनकी मौत की खबर दी।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00