विज्ञापन
विज्ञापन
आपकी जन्मकुंडली दूर करेगी आपके जीवन का कष्ट
Janam Kundali

आपकी जन्मकुंडली दूर करेगी आपके जीवन का कष्ट

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

जानिए अपनी बहन को सांड़ से बचाने वाले दिव्यांश से क्या बोले पीएम मोदी

तीन साल पहले सांड़ के एक हमले में अपनी पांच वर्षीय बहन की जान बचाने वाले बाराबंकी शहर के निवासी कुंवर दिव्यांश सिंह ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र...

25 जनवरी 2021

विज्ञापन
Digital Edition

नसीमुद्दीन और राम अचल को मिली जमानत, मंत्री स्वाति सिंह व परिवार पर अभद्र टिप्पणी का मामला

योगी सरकार में मंत्री स्वाति सिंह व उनके परिवार की महिलाओं के खिलाफ अभद्र भाषा व अपमानजनक टिप्पणी मामले में बसपा के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी और रामअचल राजभर को बुधवार को जमानत मिल गई है।

एमपीएमएलए कोर्ट के विशेष न्यायाधीश पवन कुमार रॉय के दोनों आरोपियों को 20-20 हजार की दो जमानत और 20 हजार रुपये का मुचलका दाखिल करने पर रिहा करने का आदेश दिया है।

इस मामले में 19 जनवरी को इस मामले में नसीमुद्दीन व राम अचल ने कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया था। इसके बाद आरोपियों की ओर से नियमित जमानत अर्जी के साथ ही अंतरिम जमानत की मांग वाली अर्जी दी गई थी। इसे कोर्ट अंतरिम जमानत की अर्जी को खारिज कर दिया था। वहीं, नियमित जमानत पर सुनवाई की तारीख तय करते हुए आरोपियों को जेल भेज दिया था।

गौरतलब है कि स्वाति सिंह की सास तेतरा देवी ने 21 जुलाई 2016 को हजरतगंज थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसमें कहा था कि नसीमुद्दीन, राम अचल, मेवालाल गौतम, नौशाद अली व अतर सिंह राव ने उनकी बहू और परिवार की महिलाओं पर अभद्र भाषा का प्रयोग व अपमानजनक टिप्पणी की है।
... और पढ़ें
नसीमुद्दीन सिद्दीकी नसीमुद्दीन सिद्दीकी

69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती: विधवाओं और महिलाओं को मिले दूरदराज के स्कूल, लगाए गंभीर आरोप

बेसिक शिक्षा परिषद में 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती में दूसरे चरण में नियुक्त 36,590 सहायक अध्यापकों की स्कूलों में तैनाती में विधवाओं, दिव्यांग और महिलाओं को दूरदराज के स्कूलों में तैनाती मिली है। शासन के आदेश की गलत व्याख्या कर जिलों में महिलाओं को शिक्षक विहीन और एकल विद्यालय में तैनाती देने की शिकायत सामने आई है।

नवचयनित 36,590 सहायक अध्यापकों को 25 से 27 जनवरी तक स्कूलों में तैनाती दी गई। इससे पहले शासन ने शिक्षक विहीन और एकल विद्यालयों में तैनाती देने की गाइडलाइन जारी की थी। वहीं विधवा, दिव्यांग और महिलाओं को तैनाती में प्राथमिकता देने के निर्देश दिए गए थे।
इसके बावजूद अधिकांश जिलों में हुई काउंसिलिंग में बेसिक शिक्षा अधिकारियों ने विधवा, दिव्यांग और महिला शिक्षकों को जिला और ब्लॉक मुख्यालय से दूरदराज के स्कूलों में नियुक्ति का विकल्प दिया।

महिला शिक्षकों व उनके साथ गए परिजनों ने जब इस व्यवस्था का विरोध किया तो बीएसए ने शासन की गाइडलाइन का हवाला देकर स्पष्ट कर दिया कि पहले शिक्षक विहीन और एकल शिक्षक वाले स्कूलों में ही तैनाती की जाएगी।

महिला शिक्षकों का आरोप है कि दूरदराज के गांवों में स्थित स्कूलों में महिलाओं को तैनाती देने के बाद अब जिला और ब्लॉक मुख्यालय के नजदीक स्थित स्कूलों में पुरुष शिक्षकों को आसानी से मनचाही जगह पोस्टिंग का रास्ता साफ हो गया है।

मामले पर स्कूल शिक्षा महानिदेशक विजय किरन आनंद का कहना है कि हमारा उद्देश्य पहले शिक्षक विहीन और केवल एक शिक्षक वाले स्कूलों में खाली पद भरना है। विधवा, दिव्यांग और महिला शिक्षकों को भी उनकी पसंद के स्कूलों में तैनाती दी गई है।
... और पढ़ें

निलंबित डीआईजी अरविंद सेन भेजे गए जेल, ठगी के आरोपियों को बचाने के लिए ली थी रिश्वत

निलंबित डीआईजी अरविंद सेन को न्यायिक हिरासत में 9 फरवरी तक के लिए जेल भेज दिया गया। भ्रष्टाचार निवारण के विशेष न्यायाधीश संदीप गुप्ता ने बुधवार को यह आदेश पशुपालन विभाग में टेंडर दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी करने वाले आरोपियों को बचाने के लिए सेन द्वारा 35 लाख रुपये की रिश्वत लिए जाने के आरोप में दिया।

इससे पहले कोर्ट खुलने के साथ ही सेन कोर्ट में हाजिर हो गए, हालांकि कोर्ट ने आरोपी के आत्मसमर्पण की अर्जी पर तय समय पर ही सुनवाई की। गौरतलब है कि इंदौर के कारोबारी मंजीत सिंह भाटिया ने 13 जून 2020 को हजरतगंज थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि अप्रैल 2018 में वैभव शुक्ला साथी संतोष शर्मा के साथ इंदौर उनके आवास पर मिलने पहुंचे थे।

उन्हें बताया कि उपनिदेशक पशुपालन व विभागीय मंत्री के करीबी एसके मित्तल अनाज सप्लाई का देना चाहते हैं। बाद में आरोपी आशीष राय ने साथियों मोंटी गुर्जर व अन्य आरोपियों और सरकारी अधिकारियों के साथ मिलकर कूटरचित दस्तावेज तैयार कर 9.72 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की, लेकिन भाटिया को टेंडर नहीं मिला। बाद में इस मामले में विवेचक ने मुख्य आरोपी आशीष राय से पूछताछ की।

आशीष ने बताया कि वादी मंजीत भाटिया ने पैसे के लिए दबाव बनाने लगा तो उसने सीबीसीआईडी के तत्कालीन एसपी अरविंद सेन से मुलाकात की। सेन ने इस मामले को मैनेज करने के लिए 50 लाख रुपये मांगे, लेकिन बातचीत में 35 लाख रुपये देना तय हुआ।

इसमें से 5 लाख रुपये आशीष ने अरविंद सेन के खाते में जमा कराए गए थे, शेष रकम नकद में दी गई थी। इस मामले में आरोपी आईपीएस अधिकारी अरविंद सेन फरार चल रहे थे। इस पर कोर्ट ने उसकी गिरफ्तारी वारंट, फरारी की उद्घोषणा के साथ ही कुर्की वारंट भी जारी कर दिया था। इसके बाद सेन कोर्ट में हाजिर हुए।
... और पढ़ें

अखिलेश यादव से मिले कई राज्यों के धर्माचार्य, आशीर्वाद दिया

कई राज्यों के संतों, महामंडलेश्वरों ने बुधवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की और उन्हें 2022 में मुख्यमंत्री बनने का आशीर्वाद दिया। अखिलेश ने कहा कि उत्तर प्रदेश भगवान श्रीराम, श्रीकृष्ण तथा महात्मा बुद्ध की धरती है। इसकी पवित्रता को नष्ट नहीं किया जाना चाहिए।

सुनील चंद्रा स्वामी के साथ महामंडलेश्वर हिमांगी सखी गुरू मां किन्नर अखाड़ा एवं पशुपति अखाड़ा नेपाल, स्वामी निर्विकल्पना नंदजी, अध्यात्म विज्ञानशाला, ओंकारेश्वर मध्य प्रदेश, स्वामी अखंडानंद झुंझनू, राजस्थान, स्वामी चंद्र देवजी महाराज (मुंबई), कथावाचक महेन्द्र बाबू राम (सूरत) और दिल्ली के इंद्रप्रस्थ पीठाधीश्वर स्वामी अजय योगी ने सपा मुख्यालय में अखिलेश से मुलाकात की। शांति स्थापना मिशन, कानपुर के जीतेन्द्र  तथा अपर्णा जैन ने भी सपा अध्यक्ष का अभिनंदन किया।

संत-महात्माओं ने कहा कि समाजवादी पार्टी सत्य के रास्ते पर है और मानव-मानव के बीच फर्क नहीं करती है। भाजपा काम नहीं, सिर्फ बातें करना जानती है। विकास में उसकी रूचि नहीं है। भाजपा ही समस्याओं की जड़ है। संतों ने कहा कि अखिलेश बेदाग हैं। अपने मुख्यमंत्री काल में सभी साधु संतों का सम्मान किया था।

वहीं अखिलेश ने कहा कि मानव जीवन संस्कारी होना चाहिए। भाजपा बदले की भावना से काम करती है। उत्तर प्रदेश प्रेम की भूमि है। यहां नफरत की कोई जगह नहीं है।
... और पढ़ें

यूपी: मक्का और मूंगफली खरीद में यूपी ने बनाया नया रिकॉर्ड, 106 फीसदी अधिक हुई खरीद

साधु-संतों ने अखिलेश यादव को दिया आशीर्वाद।
राज्य सरकार ने पिछले साल के मुकाबले इस बार मूंगफली की चार गुना अधिक खरीद की है। वहीं, योगी सरकार ने किसानों से पहली बार मक्का खरीद शुरू की है। पहले साल 24,859 किसानों से 1,06,412 मीट्रिक टन मक्का खरीदकर 167.04 करोड़ रुपये का भुगतान किया है। प्रदेश में 16 जनवरी तक निर्धारित लक्ष्य के मुकाबले 106.41 फीसदी अधिक मक्का की खरीद की गई है।

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, पहले साल के लिए मक्का खरीद का लक्ष्य एक लाख मीट्रिक टन तय किया गया था। इसके लिए प्रदेश भर में कुल 110 केंद्र तय किए थे। सबसे ज्यादा 24 खरीद केंद्र कानपुर संभाग में बनाए गए थे। अलीगढ़ संभाग में 18 और देवीपाटन संभाग में 15 मक्का खरीद केंद्र बनाए गए थे।

उधर, प्रदेश के अलग-अलग जिलों से कुल 6,365 मीट्रिक टन मूंगफली की खरीद की है, जोकि पिछले साल के मुकाबले चार गुना से भी ज्यादा है। पिछले साल 1,546 मीट्रिक टन मूंगफली की खरीद की गई थी।
... और पढ़ें

54 कैदियों की होगी समय से पहले रिहाई, राज्यपाल ने दिए आदेश, एक महिला कैदी भी शामिल

उत्तर प्रदेश की जेलों में आजीवन कारावास की सजा काट रहे 54 कैदी समय से पहले रिहा किए जाएंगे। इस संबंध में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल की मंजूरी के बाद शासन ने पहले चरण में इन कैदियों की रिहाई के आदेश दिए हैं। रिहा होने वालों में नारी बंदी निकेतन की एक महिला कैदी भी शामिल है।

डीजी जेल के पीआरओ संतोष कुमार वर्मा ने बताया कि एक-दो दिन में इन कैदियों की रिहाई आदेश जेलों में पहुंच जाएंगे। इसके बाद इन्हें रिहा कर दिया जाएगा। इनके अलावा करीब चार सौ कैदियों की रिहाई होनी है।

डीजी जेल आनंद कुमार के मुताबिक कारागार मुख्यालय ने प्रदेश की जेलों के करीब 500 पात्र कैदियों की रिहाई का प्रस्ताव शासन को भेजा था। शासन से अनुमति मिलने के बाद और कैदियों को छोड़ा जाना है।

इलाज करा रही महिला कैदी रिहा होने से पूर्व जेल में होगी दाखिल
गोसाईंगंज के मोहारी खुर्द स्थित नारी बंदी निकेतन में सजा काट रही पिंगला रानी कैंसर की मरीज है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर इस कैदी को इलाज के लिए चार दिसंबर को चार माह की जमानत मिली थी। जमानत अवधि पूरी होने पर वह जेल में दाखिल होगी। इसके बाद राज्यपाल के निर्देशानुसार उसे जेल से रिहा किया जाएगा।
... और पढ़ें

रायबरेली: प्रेम प्रसंग में दोस्त को बोरे में भर कर ईंट से कूच-कूच कर मार डाला, रेलवे लाइन किनारे मिली थी लाश

लालगंज में आशनाई के चक्कर में युवक की हत्या कर शव को चक पंचम सिंह का पुरवा गांव के निकट रेलवे लाइन के करीब फेंक दिया गया था। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए घटना को अंजाम देने वाले अभियुक्तों को दबोच कर जेल भेज दिया है।

कस्बे के बरदाई मोहल्ला निवासी दानिश की लाश 26 जनवरी को चकपंचम गांव के निकट मिली थी। उसकी ईटों से कूच-कूच कर हत्या कर दी गई थी। मृतक की शिनाख्त होने के बाद पिता शमशेर की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले में छानबीन करनी शुरू की।

पड़ताल के दौरान पता चला कि मृतक दानिश और हत्या अभियुक्त आपस में दोस्त थे। दोनों का गांव की एक ही लड़की से प्रेम प्रसंग था। अभियुक्त अभिषेक के दिसंबर माह में दिल्ली से वापस आने के बाद हाल ही में एक कार्यक्रम के दौरान एक मुलाकात के बाद उसी लड़की से प्रेम प्रसंग चलने लगा जिससे दानिश की पहले से दोस्ती थी। यह बात मृतक दानिश को नागवार गुजरी।

इसे लेकर दानिश ने शांति नगर मोहल्ला निवासी विवेक कुशवाहा से 24 जनवरी को फोन पर बात की और अभिषेक को मार डालने की योजना बनाई। यह बात विवेक कुशवाहा ने अभिषेक से बता दी। जिससे वह सतर्क हो गया।
... और पढ़ें

अंबेडकरनगर: लूट में शामिल तीन बदमाश पुलिस से मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार, सिपाही घायल

अंबेडकरनगर जिले की कटका थाना पुलिस ने बुधवार देर शाम एक मुठभेड़ में तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। बदमाशों की तरफ से की गई फायरिंग में एक सिपाही के घायल होने की खबर है जबकि एक बदमाश को भी पुलिस की गोली लगी है।

पुलिस के अनुसार, कटका थाना क्षेत्र के सेमरा मोड़ पर बुधवार देर शाम चेकिंग चल रही थी। इसी बीच एक बाइक पर सवार होकर जा रहे तीन संदिग्धों को रोकने का प्रयास हुआ लेकिन वह भागने लगे। पुलिस टीम ने पीछा किया तो दुल्हूपुर मोड़ के निकट उनकी बाइक फिसल गई। बदमाशों ने इसके बाद पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी। इसमें सिपाही कृष्णानंद के पैर में गोली लग गई।

पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की जिसमें हंसवर थाना क्षेत्र के हरसंभार निवासी जीशान उर्फ अशरफ के पैर में गोली जा लगी। पुलिसकर्मियों ने इसके बाद उसे पकड़ लिया। भाग रहे दो अन्य बदमाश अमोला बुजुर्ग निवासी उजमान सिद्दीकी तथा अजफर को भी घेराबंदी कर गिरफ्तार कर लिया गया।

एसओ विजय तिवारी ने बताया कि बीते दिनों अमोला निवासी विनोद मिश्र से हुई नकदी और चेन लूट मामले में यह वांछित थे। इनके कब्जे से 26 हजार 700 रुपए के अलावा बाइक, 4 मोबाइल और 3 तमंचा बरामद हुआ है। घायल बदमाश और सिपाही सेमरा सीएचसी ले जाकर इलाज कराया गया।
... और पढ़ें

प्रियंका गांधी ने अमेठी वासियों से किया संवाद, बोलीं- केंद्र द्वारा लाए गए तीनों कृषि कानून देश के लिए खतरनाक

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा ने बुधवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जामो के चिटहुला गांव में एकत्र कार्यकर्ताओं से संवाद स्थापित किया। एक घंटे तक कार्यकर्ताओं से संवाद में प्रियंका ने कहा कि अमेठी से उनका रिश्ता राजनीतिक नहीं पारिवारिक है।

प्रियंका ने केंद्र की मोदी सरकार द्वारा लाए गए तीनों कृषि कानूनों को देश के लिए खतरनाक बताया। संगठन सृजन अभियान के जरिए कांग्रेस पार्टी इन दिनों अपने संगठन को मजबूत करने में जुटी है।

इसी अभियान के तहत बुधवार को जामो के चिटहुला गांव में एक बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रियंका ने सबसे पहले पार्टी के दखिनवारा न्याय पंचायत अध्यक्ष  राम प्रताप तिवारी से बात की और क्षेत्र की समस्या के बारे में पूछा।

तिवारी ने कहा कि छुट्टा जानवर इस समय क्षेत्र की सबसे बड़ी समस्या हैं। इसके बाद प्रियंका से बात करने वाली अतरौना गांव की शिवकुमारी ने उनसे क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने का आग्रह किया। इस पर प्रियंका मुस्कराकर रह गईं।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X