लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lucknow ›   UP Weather: After eight years so much rain in one day, 23 died in the state due to torrential rain

UP Weather : आठ वर्षों बाद एक दिन में इतनी बरसात, मूसलाधार बारिश से प्रदेश में 23 की मौत

अमर उजाला ब्यूरो, लखनऊ Published by: पंकज श्रीवास्‍तव Updated Sat, 17 Sep 2022 12:04 AM IST
सार

शुक्रवार की शाम को जारी मौसम बुलेटिन में प्रदेश में बरसात की चेतावनी को 21 सितंबर तक बढ़ा दिया है। कुछ इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी है, लेकिन लखनऊ में सिर्फ बरसात होने की बात कही जा रही है।

यूपी में मौसम का हाल
यूपी में मौसम का हाल - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

दो दिन से लगातार हो रही अतिवृष्टि से प्रदेश में 23 लोगों की मौत हो गई जबकि दर्जन भर लोग घायल हुए हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए हैं कि इन सभी जिलों में मृतकों के परिजनों को अनुमन्य राहत राशि दी जाए। साथ ही घायलों का उपचार कराया जाए। सरकारी प्रवक्ता के अनुसार राहत आयुक्त कार्यालय से उपलब्ध कराये गये विवरण के अनुसार जनपद लखनऊ में अतिवृष्टि से नौ, उन्नाव में पांच, फतेहपुर में तीन, झांसी में एक, रायबरेली में एक, प्रयागराज में दो तथा सीतापुर में एक व्यक्ति की मौत हुई है। कन्नौज में आकाशीय विद्युत से एक एवं सोनभद्र में सर्पदंश से दो लोगों की मौत की सूचना प्राप्त हुई है। इसके अलावा लखनऊ में अतिवृष्टि से दो, झांसी में एक, रायबरेली में तीन व्यक्तियों तथा कुशीनगर में आकाशीय विद्युत से चार तथा जनपद सोनभद्र में सर्पदंश से एक व्यक्ति के घायल होने की सूचना प्राप्त हुई है। जनपद फतेहपुर में पांच, अमेठी में दो तथा मऊ में एक पशु की मौत हुई है। सीएम ने इस पर शोक जताया है। साथ ही मृतकों के परिजनों को अनुमन्य राहत राशि तत्काल वितरित किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि वरिष्ठ अधिकारी मौके पर जाकर राहत कार्य तीव्र गति से शुरू करें।



बिना थमे होती रही बारिश, 24 घंटे में टूटे पिछले रिकॉर्ड
जून से लेकर अगस्त तक सूखे जैसे हालात से जूझ रहे लखनऊ समेत उत्तर प्रदेश के लिए सितंबर के बीते चार-पांच दिन गर्मी के लिहाज से तो राहत भरे रहे, लेकिन बारिश जबरदस्त आफत लेकर आई। बिना थमे होती रही बारिश ने जनजीवन को अस्तव्यस्त किया, जानमाल को नुकसान पहुंचाया। लखनऊ की बारिश से जुड़े उपलब्ध आंकड़ें बताते हैं कि बीते 24 घंटे में दर्ज 116.85 मिमी बारिश ने बीते आठ वर्षों का रिकॉर्ड तोड़ दिया। वहीं प्रदेश की बात करें तो मौसम विभाग के मुताबिक, फर्रुखाबाद के फतेहगढ़ में सर्वाधिक 29 सेमी बारिश हुई। अन्य ज्यादा बरसात प्रभावित जिलों में बाराबंकी, हैदरगढ़ और रामनगर भी शामिल है।


मौसम बुलेटिन के मुताबिक, इस सीजन में पूर्वी उत्तर प्रदेश में अब तक 470.7 मिमी बारिश हो चुकी है, जबकि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 365.4 मिमी बारिश हुई। दोनों ही क्षेत्रों में बारिश का प्रतिशत सामान्य से क्रमश: 37 और 43 फीसदी कम है। पूरे प्रदेश में 39 फीसदी कम बरसात हुई है। जबकि लखनऊ में अभी तक हुई बरसात को सामान्य से 18 फीसदी कम बताया जा रहा है।

चेतावनी 21 तक बढ़ाई गई
शुक्रवार की शाम को जारी मौसम बुलेटिन में प्रदेश में बरसात की चेतावनी को 21 सितंबर तक बढ़ा दिया है। कुछ इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी है, लेकिन लखनऊ में सिर्फ बरसात होने की बात कही जा रही है।

 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00