लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lucknow News ›   UP News: BSP's election mantra, five youths on every booth, campaign going on in village Chalo campaign

UP News : बसपा का चुनावी मंत्र, हर बूथ पर पांच यूथ, गांव चलो अभियान में चल रही मुहिम

अमर उजाला ब्यूरो, लखनऊ Published by: पंकज श्रीवास्‍तव Updated Sun, 19 Feb 2023 10:45 PM IST
सार

बसपा ने गांव चलो अभियान शुरू किया है। इसके तहत गांव-गांव जाकर बैठकें की जा रही हैं। बसपा का लक्ष्य लोकसभा चुनाव 2024 है जिसमें इस बार गांवों को फोकस किया जा रहा है। पहले बसपा निकाय चुनाव की तैयारी में थी पर इसमें देर होने से अब पार्टी ने गांवों के सहारे लोकसभा चुनाव जीतने की योजना पर काम शुरू किया है।

UP News: BSP's election mantra, five youths on every booth, campaign going on in village Chalo campaign
बसपा सुप्रीमो मायावती। - फोटो : amar ujala

विस्तार

लोकसभा चुनाव से पहले बसपा ने पार्टी में युवाओं की दमदार उपस्थित दर्ज कराने की कोशिश तेज कर दी है। पार्टी सुप्रीमो मायावती ने कहा है कि इस मुहिम में गांव के युवाओं को ज्यादा से ज्यादा जोड़ा जाए। हर बूथ पर पांच पदाधिकारी बनाने हैं जिनमें युवाओं को प्राथमिकता दें। 



बसपा ने गांव चलो अभियान शुरू किया है। इसके तहत गांव-गांव जाकर बैठकें की जा रही हैं। बसपा का लक्ष्य लोकसभा चुनाव 2024 है जिसमें इस बार गांवों को फोकस किया जा रहा है। पहले बसपा निकाय चुनाव की तैयारी में थी पर इसमें देर होने से अब पार्टी ने गांवों के सहारे लोकसभा चुनाव जीतने की योजना पर काम शुरू किया है।


बसपा सुप्रीमो ने इसके लिए पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि प्रत्येक सेक्टर पर बैठकें करो। सेक्टरों की बैठक में बूथ कमेटियां बनाने का निर्णय होगा। प्रत्येक सेक्टर पर दस बूथ कमेटियां बनेंगी और प्रत्येक बूथ पर पांच पदाधिकारी नियुक्त किए जाएंगे। यह जिम्मेदारी युवाओं को देने की बात कही गई है।

उपेक्षितों को जोड़ो
पार्टी के थिंक टैंक ने कहा है कि युवाओं को जोड़ने में दो मुख्य बिंदुओं पर फोकस करना है। पहला, वह हर वर्ग से हों। दूसरा ऐसे युवाओं पर भी फोकस करें जो दूसरे दलों में उपेक्षित हैं। ऊर्जावान हों तो बसपा से उन्हें जोड़ें और अहम जिम्मेदारी दें।

नजदीकी मुकाबले के बूथों पर फोकस
बसपा ने ऐसे बूथों पर ज्यादा फोकस किया है जहां विधानसभा चुनाव 2022 में पार्टी मामूली अंतर से पीछे रह गई। जहां मिश्रित आबादी है और दलित वोटरों की संख्या भी वहां खूब है। ऐसे बूथों पर काम करने के जल्दी परिणाम आने की संभावना बसपा को नजर आ रही है।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

फॉन्ट साइज चुनने की सुविधा केवल
एप पर उपलब्ध है

बेहतर अनुभव के लिए
4.3
ब्राउज़र में ही
एप में पढ़ें

क्षमा करें यह सर्विस उपलब्ध नहीं है कृपया किसी और माध्यम से लॉगिन करने की कोशिश करें

Followed