सुलतानपुर। दीपू तिवारी हत्याकांड में सरेंडर करने की नीयत से दी गयी

Baliram Mishra Updated Thu, 21 Dec 2017 10:48 AM IST
सुलतानपुर। दीपू तिवारी हत्याकांड में सरेंडर करने की नीयत से दी गयी अर्जी पर मांगी गयी आख्या ही सीजेएम कोर्ट में नही पहुंच सकी। नतीजतन नामजद आरोपी का सरेन्डर भी अधर में है। सीजेएम विजय कुमार आजाद ने आगामी 20 दिसम्बर तक के लिए नगर कोतवाल से पुनः आख्या तलब की है।      मालूम हो कि कोतवाली नगर  क्षेत्र स्थित सोल्जरपुर चौराहे के निकट दिन-दिहाड़े दीपू तिवारी की बीते 11 दिसम्बर को बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। इस मामले में दीपू के परिजनों ने इफ्तिखार अहमद उर्फ पिंटूू निवासी धरहाकला, मन्नान निवासी लोलेपुर के खिलाफ नामजद व दो अज्ञात के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कराया। घटना के एक सप्ताह बाद भी नगर पुलिस किसी भी आरोपी को पकड़ पाने में नाकाम रही है। वहीं नामजद आरोपी इफ्तिखार अहमद ने बीते शनिवार को सीजेएम कोर्ट में सरेन्डर अर्जी दी है। जिसकी तरफ से पैरवी कर रहे अधिवक्ता राजा प्रताप सिंह ने कोतवाली से आख्या तलब किये जाने की मांग की है। जिन्होंने पुलिस द्वारा वांछित बताए जाने पर सरेन्डर करने का तर्क रखा है। इस प्रार्थना पत्र पर सुनवाई के पश्चात सीजेएम ने कोतवाली से सोमवार के लिए आख्या तलब की थी। फिलहाल पुलिस की लापरवाही के चलते पुलिस के लिए ही नासूर बने आरोपी के विषय में रिपोर्ट ही कोर्ट नही पहुंच सकी। नतीजतन नामजद आरोपी इफ्तिखार अहमद का सरेन्डर ही नही हो सका। सोमवार को अर्जी पर सुनवाई के दौरान आरोपी के अधिवक्ता राजा प्रताप सिंह ने पुनः कोतवाली से आख्या मंगाए जाने की मांग की। सीजेएम विजय कुमार आजाद ने मामले में आगामी 20 दिसम्बर के लिए कोतवाल से आख्या तलब की है।

मायावती ने अपने भाई को उपाध्यक्ष पद से हटाया, कहा- अभी कोई मेरा उत्तराधिकारी बनने का सपना न देखे

बसपा सुप्रीमो मायावती ने परिवारवाद के बढ़ते आरोपों पर कदम पीछे खींचते हुए अपने भाई आनंद कुमार को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद से हटा दिया है। साथ ही उन्होंने वरिष्ठ नेताओं को आगाह करते हुए कहा कि अभी कोई उत्तराधिकारी बनने का सपना न देखे।

26 मई 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कि कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स और सोशल मीडिया साइट्स के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज़ नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज़ हटा सकते हैं और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डेटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy और Privacy Policy के बारे में और पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen