Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lucknow ›   rajnath singh hands over debt relief certificates to farmer

यूपी में हुई कर्जमाफी की शुरुआत, 27.50 लाख किसानों को मिलेगा इसका लाभ

टीम डिजिटल/अमर उजाला, लखनऊ Updated Thu, 17 Aug 2017 05:10 PM IST
प्रमाण पत्र वितरण समारोह में सीएम और गृहमंत्री
प्रमाण पत्र व‌ितरण समारोह में सीएम और गृहमंत्री
विज्ञापन
ख़बर सुनें
यूपी में भाजपा की सरकार बनने के बाद से ही कर्जमाफी का इंतजार कर रहे किसानों का सपना अब साकार होने जा रहा है। योगी सरकार लघु-सीमांत किसानों के लिए ‘फसल ऋण मोचन योजना’ की शुरुआत बृहस्पतिवार को राजधानी लखनऊ से शुरू की गई।


इस कार्यक्रम का शुभारंभ केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ स‌िंह और सीएम योगी आदित्यनाथ ने स्मृत‌ि उपवन में किया। राजनाथ स‌िंह ने कहा, लोग कहते थे क‌ि चुनाव में कर्जमाफी का वादा कर द‌िया गया लेक‌िन पूरा नहीं हुआ। हमने अपनी कथनी और करनी में कोई अंतर नहीं आने द‌िया। राजनाथ ने कहा क‌ि 100 द‌िन के अंदर कर्जमाफ करना बड़ी बात है।


उन्होंने योगी सरकार की तारीफ भी की और कहा क‌ि इस कदम से क‌िसानों को राहत म‌िलेगी। उन्होंने कहा क‌ि जनता का व‌िश्वास नेताओं से कम हो रहा है। बहुत सी फसल बीमा योजनाएं शुरू हुईं है लेकिन कभी इतने किसानों ने बीमा नहीं करवाया जितना नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के आने के बाद शुरू हुआ। 

आज 7500 किसानों को कर्जमाफी का प्रमाण पत्र दिया जाएगा। इन किसानों का करीब 45 करोड़ रुपये का कर्ज माफ होगा।

योजना का लाभ पाने के लायक अभी तक 27.50 लाख किसान चिह्नित किए गए हैं। कृषि मंत्री ने ऋण मोचन योजना में शामिल होने के लिए पात्रता के दायरे में आने वाले किसानों से अपील की है कि वह जल्द से जल्द अपना आधार कार्ड लिंक करा लें, ताकि वेरिफिकेशन में उनको शामिल किया जा सके।

24 लाख क‌िसानों को म‌िलेगा आवास

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ - फोटो : amar ujala
2022 किसानों की आय दोगुनी होगी। फसल ऋण मोचन योजना के पहले चरण की शुरुआत। पिछली सरकारों में यूपी का किसान कर्ज में दबा था। सरकार आप पर उपकार नहीं कर रही
किसानों के खातों में सीधा रुपया ट्रांसफर होगा।
मोदी सरकार ने खाद बीज की किल्लत दूर की।
यूपी कैबिनेट की पहली बैठक में हमने किसानों का कर्ज माफ किया।
ये किसानों का अधिकार है। हमने पिछले 15 साल में देखा है कि किसान पीड़ित और उपेक्ष‌ित था।
पहली बार केंद्र में मोदी सरकार आई तो किसान को बीज और खाद के ल‌िए भटकना नहीं पड़ा। 
ये किसान पर उपकार नहीं बल्क‌ि उसके सम्मान के लिए किया गया है। 
15 साल से यूपी में जात‌ि की राजनीत‌ि हो रही थी। पहली बार यूपी के अंदर जातिवाद और तुष्टिकरण नहीं किसान पर केंद्रित राजनीति होगी। 
अब यूपी में भूमाफियाओं को संरक्षण नहीं मिलेगा।
केंद्र और राज्य दोनों सरकारें आपके हित के लिए हैं।
नेताओं के बड़े-बड़े मकान बन जाते थे, लोग जीते जी अपने स्मारक बनवा लेते थे। हम ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले 10 किसानों को मकान और 2019 तक 24 लाख किसानों को आवास दिया जाएगा।
 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00