योगी सरकार के साढ़े चार साल : मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने दिया रिपोर्ट कार्ड, बोले - 350 से ज्यादा सीटें जीतकर फिर सत्ता में आएंगे

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Published by: ishwar ashish Updated Sun, 19 Sep 2021 10:09 PM IST

सार

- संकल्प पत्र का हर वादा पूरा, प्रदेश में सुशासन, देश में दूसरे नंबर की अर्थव्यवस्था
- विपक्ष पर चलाए तीर, कहा-पहले मुख्यमंत्रियों में अपने बंगले बनाने की मची रहती थी होड़
- 1.45 लाख करोड़ गन्ना मूल्य का भुगतान, दिसंबर तक कानपुर व आगरा में दौड़ेगी मेट्रो रेल
- प्रदेश में एक्सप्रेस-वे का जाल, दो से बढ़कर हुए 8 अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट, 10 का निर्माण जारी
यूपी सरकार के चार साल पूरे होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व अन्य।
यूपी सरकार के चार साल पूरे होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व अन्य। - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वर्ष 2022 के चुनाव में 350 से ज्यादा सीटें जीतकर भाजपा पुन: सत्ता में आएगी। हमनें संकल्प पत्र का हर वादा पूरा किया है। प्रदेश में न सिर्फ सुशासन स्थापित हुआ है, बल्कि आज हम छठे से दूसरे नंबर की अर्थव्यवस्था बन गए हैं। विपक्ष पर तीर चलाते हुए कहा कि पहले मुख्यमंत्रियों में खुद के बंगले बनाने की होड़ मची रहती थी। हमारी सरकार ने 42 लाख गरीबों को आवास बनाकर दिए हैं। एयर कनेक्टिविटी में वृद्धि हुई है। एक्सप्रेस-वे का जाल बिछा है। किसानों में भी खुशहाली आई है।
विज्ञापन


योगी आदित्यनाथ सरकार के साढ़े चार साल पूरा होने पर लोकभवन में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में अपनी उपलब्धियां बता रहे थे। उन्होंने कहा कि कानून-व्यवस्था की स्थिति सुधरने से आज यूपी के बारे में देश-दुनिया के लोगों की धारणा बदली है। सपा शासन में औसतन हर तीसरे-चौथे दिन एक बड़ा दंगा होता था। आज बिना जाति व मजहब देखे अपराधी और माफिया के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो रही है। एक भी सरकारी भर्ती की प्रक्रिया रोकने के लिए न्यायालय से स्टे नहीं मिला। पहले भर्तियां निकलने पर पूरा खानदान प्रदेश में वसूली के लिए निकल पड़ता था।


सुरक्षा व्यवस्था बेहतर होने से बड़ी संख्या में निवेशक आ रहे हैं। कारोबारी सुगमता में यूपी 14वें स्थान से दूसरे नंबर पर आ गया है। कोरोना काल में चीन ने तक अपनी डिस्प्ले यूनिट लगाने के लिए यूपी को चुना। सीएम ने कहा कि वर्ष 2017 से पहले प्रदेश में ट्रांसफर-पोस्टिंग एक बड़ा उद्योग था, लेकिन उनके कार्यकाल में एक भी व्यक्ति बताए कि इस काम के लिए विभाग में लेनदेन हुआ हो।

केंद्र की 44 योजनाओं में यूपी नंबर-1
सीएम ने कहा कि पहले यूपी देश के विकास को अवरुद्ध करने वाला माना जाता था। विभिन्न योजनाओं में उसका स्थान 17वें से 27वें स्थान के बीच था। आज भारत सरकार की 44 योजनाओं में यूपी नंबर-1 है। उनकी सरकार आने से पहले प्रदेश में भूख से लोगों की मौतें हो रही थीं। हमनें 40 लाख फर्जी राशन कार्ड निरस्त किए। 80 हजार दुकानों को ई-पॉज मशीनों से जोड़ा। कोरोना काल में 15 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन दिया। आधुनिक तकनीक का प्रयोग कर 1200 करोड़ रुपये साल बचा भी रहे हैं।

गन्ना किसानों को 1.45 लाख करोड़ का भुगतान
सीएम ने कहा कि वर्ष 2007 से 2017 के बीच 95 हजार करोड़ रुपये का भुगतान गन्ना किसानों को हुआ था। हमारे कार्यकाल में अब तक 1.45 लाख करोड़ भुगतान हो चुका है। उससे पहले के 10 वर्षों में चीनी मिलें बेची गईं या बंद की गईं। किसान आत्महत्या करने को मजबूर थे। हमनें न सिर्फ नई चीनी मिलें शुरू कीं, बल्कि बंद मिलों को भी चालू कराया। बिचौलिया व्यवस्था पर कुठाराघात करते हुए गेहूं और धान की रिकॉर्ड खरीदारी की।

मंदिर निर्माण शुरू कराया
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पहले लोग हमारी पार्टी के नारे ‘राम लला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे’ पर मजाकिया लहजे में कहते थे कि ‘पर, तारीख नहीं बताएंगे।’ आज अयोध्या में भव्य मंदिर की शुरुआत हो चुकी है। मिशन शक्ति के तहत महिलाएं सशक्त हो रही हैं।

हमारे राज में एक भी दंगा नहीं

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कानून-व्यवस्था के लिहाज से यह स्मरणीय काल माना जाएगा। पहले पेशेवर अपराधी और माफिया सत्ता के संरक्षण में दहशत फैलाते थे। दंगा प्रवृत्ति बन गई थी। वर्ष 2012-17 केबीच औसतन हर तीसरे-चौथे दिन एक बड़ा दंगा होता था। हमारी सरकार के कार्यकाल में एक भी दंगा नहीं हुआ। माफिया और अपराधियों के खिलाफ बिना जाति व मजहब देखे सख्त कार्रवाई की गई है। 1800 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की गई। अवैध निर्माण पर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की।

मेट्रो कॉरपोरेशन को मिली पहली बोगी
सीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश मेट्रो कॉरपोरेशन को पहली बोगी बड़ोदरा में मिल चुकी है। नवंबर-दिसंबर तक कानपुर और आगरा में मेट्रो का संचालन प्रारंभ हो जाएगा। वर्ष 2017 से पहले यूपी के एक भी शहर में मेट्रो रेल नहीं थी। इतना ही नहीं ‘हर गांव सड़क योजना’ पर युद्धस्तर पर काम हो रहा है।

शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी राज्यों को करेंगे लीड
शिक्षा के क्षेत्र में हम 2022 में अग्रणी राज्यों को लीड करते हुए दिखेंगे। 7 नए विश्वविद्यालय और 50 महाविद्यालय बना रहे हैं। पुलिस फोरेंसिंक इंस्टीट्यूट की स्थापना स्थापना लखनऊ में हो रही है। मंडल स्तर फोरेंसिक लैब और साइबर थाने स्थापित किए जा रहे हैं। 30 हजार महिला आरक्षी भर्ती की गई हैं। 1.26 लाख से अधिक बेसिक शिक्षा में भर्तियां हुई हैं। महिला स्वयं सहायता समूहों की मदद से एक करोड़ बहनें स्वावलंबी बनी हैं। यह सब संगठन व सरकार के बेहतर समन्वय और केंद्रीय नेतृत्व से मिले सहयोग का नतीजा है। मीडिया ने भी हमारी योजनाओं को जनता तक पहुंचाने के लिए सेतु का काम किया है।

देश-दुनिया में सराहा जा रहा कोरोना प्रबंधन का हमारा मॉडल
कोरोना के प्रबंधन का यूपी का मॉडल देश-दुनिया में सराहा जा रहा है। करीब 9.5 करोड़ लोगों को कोरोना के टीके लग चुके हैं। इस अवसर पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा, भाजपा के प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह मौजूद थे।

देश -विदेश का हर बड़ा निवेशक यूपी में निवेश का इच्छुक

अपनी सरकार के साढ़े चार साल पूरे होने के खास मौके पर मुख्यमंत्री ने जहां खुले मन से पूरे 38 मिनट अपनी सरकार की उपलब्धियां बताईं, वहीं अपने चिरपरिचित अंदाज में सूबे की सत्ता पर लंबे समय तक काबिज रहीं सरकारों की सोच में कमी को यूपी के पिछड़ा राज्य होने की वजह बताया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब तो विदेशी कंपनियां चीन के बजाए यूपी में अपना उद्योग लगा रही हैं। नए भारत के नए यूपी में बीते साढ़े चार वर्षों में यह बदलाव हुआ है। इस नए यूपी में देश और विदेश का हर बड़ा निवेशक निवेश करने को इच्छुक है। सरकार के साढ़े चार साल के कार्यकाल की उपलब्धियों के लेखा-जोखा को लेकर तैयार की गई पुस्तिका का विमोचन भी मुख्यमंत्री ने किया। इस पुस्तिका में सूबे की अर्थ व्यवस्था में हुए सुधार को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टिप्पणी भी है। जिसमें प्रधानमंत्री ने कहा है कि आज उत्तर प्रदेश पूरे देश का नेतृत्व कर रहा है।

विगत साढ़े चार वर्ष में प्रति प्रति व्यक्ति आय दुगनी हुई है। सरकार की उपलब्धियों से संबंधित जिस पुस्तिका का मुख्यमंत्री ने विमोचन किया है, उसमें लिखा गया है कि प्रदेश सरकार ने दूरदर्शी योजनाएं तैयार कर उन्हें धरातल पर उतारा। बीते 54 माह में राज्य के माथे से बीमारू राज्य का धब्बा हट गया और समृद्धिशीलता का टीका लग गया है। इस पुस्तिका में आंकड़ों के जरिए सरकार ने यूपी की ताजा अर्थव्यवस्था की तस्वीर मीडिया के सामने रखी। देश की पहली मोबाइल डिस्प्ले यूनिट यूपी में लगी और चीन से कारोबार खत्म कर भारत आई इस कंपनी ने भारत में यूपी को चुना। मुख्यमंत्री के अनुसार यह नया उत्तर प्रदेश निवेशकों की पहली पसंद बन गया है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00