विज्ञापन

करोड़ों रुपये से बने चार इंटर कॉलेज, दाखिले हुए सिर्फ 40

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Updated Mon, 06 Aug 2018 04:41 PM IST
राजकीय बालिका इंटर कॉलेज पर लगा है ताला
राजकीय बालिका इंटर कॉलेज पर लगा है ताला - फोटो : amarujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें
15.50 करोड़ रुपये की लागत से जिले में चार राजकीय इंटर कॉलेजों का निर्माण कराया गया, मगर पढ़ाई सिर्फ एक कॉलेज में शुरू हो सकी। उसमें भी महज 40 विद्यार्थियों का ही दाखिला कराया जा सका है। जुलाई माह तक इन स्कूलों में दाखिला देकर पढ़ाई शुरू कराने का दावा किया गया था।
विज्ञापन
मगर आलम यह है कि तीन कॉलेजों में न तो शिक्षकों की नियुक्ति हुई और न ही अन्य कोई संसाधन उपलब्ध कराए गए। तीनों इंटर कॉलेजों के भवन बनकर तैयार हैं। कक्षाएं, लैब आदि की भी ब्यवस्था है, लेकिन शिक्षक , फर्नीचर व अन्य संसाधन उपलब्ध न होने के चलते इस सत्र में इन कॉलेजों में पढ़ाई शुरू नहीं पाई।
 
केवल एक कॉलेज में जैसे-तैसे पढ़ाई शुरू कराई गई, वह भी इसलिए क्योंकि इसका उद्घाटन खुद उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने किया था। तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के कार्यकाल में जिले में राजकीय बालिका इंटर कॉलेज छोटी जुबली, राजकीय बालिका इंटर कॉलेज जियामऊ, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी इंटर कॉलेज चिनहट और राजकीय बालिका इंटर कॉलेज बेहटा स्वीकृत किए गए थे।
 
छोटी जुबली के निर्माण के लिए चार करोड़ 74 लाख 28 हजार रुपये, जियामऊ के लिए चार करोड़ 68 लाख 28 हजार रुपये, चिनहट के लिए तीन करोड़ 73 लाख 67 हजार रुपये और बेहटा के लिए दो करोड़ 34 लाख 60 हजार रुपये स्वीकृत हुए। चारों कॉलेजों का निर्माण वर्ष 2015 में शुरू हुआ और मई 2017 में खत्म होना था।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

न शिक्षक न फर्नीचर

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shimla

हिमाचल में 150 पदों को भरेगा ये विभाग, शेड्यूल जल्द

प्रदेश सैनिक कल्याण विभाग विभिन्न विभागों में 150 पदों पर पूर्व सैनिकों की भर्ती करेगा।

16 अक्टूबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

16 अक्टूबर NEWS UPDATES : दिल्ली के फाइव स्टार होटल में रिवॉल्वर वाला गुंडा समेत देखिए बड़ी खबरें

आतंकी मन्नान के हितैषी महबूबा- ओवैसी, रामपाल की सजा पर फैसला और दिल्ली के 5 स्टार होटल में रिवॉल्वर वाला गुंडा समेत देश-दुनिया की बड़ी खबरें।

16 अक्टूबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree