विज्ञापन
विज्ञापन

निजी अस्पातल नहीं रख रहे हैं आयुष्मान का ÒमानÓ

Lucknow Bureauलखनऊ ब्यूरो Updated Tue, 17 Sep 2019 01:54 AM IST
ख़बर सुनें
चंद्रभान यादव
विज्ञापन
लखनऊ। राजधानी में आयुष्मान योजना में निजी अस्पताल रुचि नहीं ले रहे हैं। तमाम प्रयास के बाद अब तक सिर्फ 129 निजी अस्पतालों का पंजीयन हो पाया है। स्वास्थ्य विभाग निजी अस्पताल संचालकों को प्रोत्साहित करने का दावा कर रहा है। राजधानी में करीब 1200 से अधिक निजी अस्पताल पंजीकृत हैं। इसमें 50 फीसदी से ज्यादा 30 बेड वाले हैं। इन अस्पतालों को आयुष्मान भारत योजना में पंजीकृत किया जाना है। तमाम प्रयास के बाद भी अब तक कुल 159 अस्पताल योजना में शामिल हो पाए हैं, इसमें 129 निजी अस्पताल शामिल हैं।
सरकारी क्षेत्र में एसजीपीजीआई, केजीएमयू, लोहिया संस्थान सहित 30 अस्पताल पंजीकृत हैं। योजना में अब तक 13805 मरीजों का इलाज किया गया है। इसमें निजी अस्पताल की भागीदारी बेहद कम है। 129 अस्पतालों ने मिलकर सिर्फ 7172 मरीजों का इलाज किया, जबकि 30 सरकारी अस्पतालों ने 6633 मरीजों का इलाज किया। खास बात यह है कि निजी अस्पतालों ने गंभीर रोगियों का इलाज करने के बजाय उन्हें रेफर करने में रुचि दिखाई है। इसके पीछेे कभी पैकेज की कमी का हवाला दिया जाता है तो कभी कड़े नियमों की। फिलहाल राजधानी में पंजीकृत ज्यादातर मरीज सरकारी अस्पताल के हवाले हैं।
आधे से अधिक को नहीं मिला गोल्डन कार्ड
योजना शुरू होने के करीब डेढ़ साल बाद भी राजधानी के आधे से अधिक लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड मुहैया नहीं कराया जा सका है। स्वास्थ्य विभाग इसके लिए लगातार जागरूकता अभियान चलाने एवं शिविर आयोजित होने का दावा करता है, लेकिन जमीनी हकीकत यह यह है कि अभी तक 50 फीसदी लाभार्थियों को ही गोल्डन कार्ड मिल पाया है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक योजना में लखनऊ में 279930 परिवार पंजीकृत हैं। इन परिवारों को 2011 की जनगणना के आर्थिक आधार पर शामिल किया गया है। इसमें 108609 परिवारों को गोल्डन कार्ड जारी कर दिया गया है। इसमें सूचीबद्ध अस्पतालों ने 86958 कार्ड व सुविधा केंद्रों ने 21651 कार्ड जारी किए हैं। बाकी बचे 172328 परिवारों को गोल्डन कार्ड बांटने के लिए आशा एवं एनएएनएम को लगाया गया है। इसके लिए सरकारी चिकित्सालयों पर शिविर भी लगाए जा रहे हैं। सीएमओ ने बताया कि चयनित लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड उपलब्ध कराने के लिए लगातार प्रयास किया जा रहा है।
यह है योजना
योजना के तहत चयनित लाभार्थी परिवार को सालभर में पांच लाख तक का इलाज उपलब्ध कराया जाएगा। यह लाभ परिवार के किसी भी सदस्य को मिल सकता है। इसके लिए सरकारी और निजी अस्पताल पंजीकृत किए गए हैं। पंजीकृत अस्पताल में ही मरीज को योजना के तहत लाभ मिलेगा।
धरातल पर नहीं उतर सकी योजना
केंद्र सरकार की ओर से प्रधानमंत्री जन अरोग्य योजना का संचालन किया जा रहा है। इसके तहत चयनित परिवार के सदस्यों का पांच लाख रुपये तक का इलाज किया जाता है। सरकारी अस्पतालों के साथ ही योजना में चयनित अस्पताल में भी कार्ड धारक परिवार के सदस्य इलाज करा सकते हैं। पिछले वर्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस योजना की शुरुआत एक अप्रैल 2018 किया है। इसका उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर लोगों (बीपीएल) को स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराना है। लेकिन अभी तक इस योजना को धरातल पर नहीं उतारा जा सका है। लाभार्थियों को तमाम मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इसी लिए अमर उजाला ने नए अभियान की शुरुआत की है। इसका उद्देश्य योजना में आ रही समस्याओं को सामने लाना और उनसे निराकरण की दिशा में काम करना है, जिससे लाभार्थियों को ज्यादा से ज्यादा फायदा मिल सके।
आप अपनी प्रतिक्रिया या सुझाव इस नंबर पर दे सकते हैं।
व्हाट्सअप नंबर- 8859108092
निजी अस्पतालों से चल रही बात
आयुष्मान योजना में निजी अस्पतालों की भागीदारी बढ़ाने की दिशा में काम किया जा रहा है। पंजीयन के लिए निजी अस्पताल संचालकों की बैठकें कराई जा रही हैं। उन्हें इसके फायदे भी समझाए जा रहे हैं। योजना में उन्हीं अस्पतालों को शामिल किया जा रहा है, जो सभी मानकों को पूरा करते हैं।
- डॉ. नरेंद्र अग्रवाल, सीएमओ
नियम कड़े और पैकेज की दर कम
योजना के लिए आवेदन करने वाले तमाम निजी अस्पताल छंट भी जाते हैं। इसके मानक काफी कड़े हैं। सभी मानकों पर खरे उतरने वालों को ही इसमें शामिल किया जाता है। दूसरी बात यह है कि इसके पैकेज की दरें काफी कम हैं। इस वजह से भी कुछ अस्पताल रुचि नहीं लेते हैं। हालंाकि आईएमए ने सभी चिकित्सकों एवं चिकित्सालय संचालकों से आयुष्मान के मानकों को पूरा कर पंजीयन कराने की अपील की है।
-डॉ. जेडी रावत, सचिव, आईएमए
विज्ञापन

Recommended

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?
Junglee Rummy

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Lucknow

सलमान खुर्शीद बोले, आयुष्मान भारत योजना अच्छी पर इसे ठीक से लागू नहीं किया गया

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना आयुष्मान भारत के बारे में कहा है कि यह एक बेहतरीन योजना है पर इसे ठीक से लागू नहीं किया गया।

22 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

NCRB Report: यूपी महिलाओं के लिए असुरक्षित, कांग्रेस ने सरकार को घेरा

एनसीआरबी ने साल 2017 का आपराधिक डेटा जारी किया है। आंकड़ों के मुताबिक यूपी में महिलाओं के खिलाफ सबसे ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज किए गए हैं। जिसको लेकर कांग्रेस ने सरकार पर निशाना साधा है।

22 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree