'My Result Plus

हीमोफीलिया से पीड़ित लोगों के लिए तैराकी है रामबाण इलाज, जानें क्यों

लाइफस्टाइल डेस्क, अमर उजाला Updated Fri, 13 Apr 2018 09:04 AM IST
फाइल फोटो
फाइल फोटो
ख़बर सुनें
हीमोफीलिया से पीड़ित लोगों, खासकर बच्चों के लिए तैराकी बहुत उपयोगी है। इससे ऐसे बच्चों की बीमारी 70 फीसदी तक कम हो जाती है। हीमोफीलिया से पीडि़त मरीजों के जोड़ों में पानी से कुशन बन जाते हैं, जिससे उनमें रक्तस्राव नहीं होता।
रना पूरे शरीर का व्यायाम है, लेकिन ऐसे मरीजों को साइकिलिंग नहीं करनी चाहिए। तैराकी से पूरे शरीर का मूवमेंट होने के कारण मांसपेशियां मजबूत होती हैं। रक्त प्रवाह बेहतर होता है। स्टैमिना बढ़ती है और चोटों से आप जल्दी ठीक होते हैं।

शरीर लचीला बनता है। क्लोरीन के अधिक संपर्क में रहने के कारण शरीर से सहज रूप से कीटाणुओं का नाश होता है। तैराकी तब तक करें, जब तक कि आप सहज हों।
 

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all health tips in Hindi yoga tips in hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news from lifestyle and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Yoga and Health

आंतों की ऐंठन झट से दूर करती है यह खास मुद्रा, आप भी ट्राई कीजिए

कई बार, पेट की चिकनी मांसपेशियों में सूजन, उल्टी-दस्त से होने वाले निर्जलीकरण और पाचन-तंत्र की अन्य गड़बड़ियों से आंतों में अनचाहा संकुचन होता है।

12 अप्रैल 2018

Related Videos

जॉन अब्राहम ने सालों की मेहनत के बाद पाई ऐसी जबरदस्त बॉडी, वीडियो

जॉन अब्राहम ने सालों साल मेहनत कर और जिम में पसीना बहाकर जबरदस्त बॉडी हासिल की है।

25 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen