बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

नए अध्ययन में दावा: कोरोना के जोखिमों को प्रभावित नहीं करते हैं रक्त के प्रकार

हेल्थ डेस्क, अमर उजाला, वॉशिंगटन Published by: सोनू शर्मा Updated Thu, 08 Apr 2021 01:49 AM IST

सार

  • नए अध्ययन के मुताबिक, रक्त के प्रकार और कोरोना वायरस के बीच कोई संबंध नहीं है 
  • यह अध्ययन जामा नेटवर्क ओपन नामक पत्रिका में प्रकाशित किया गया है 
  • पहले हुए अध्ययनों में कहा गया था कि रक्त के प्रकार भी कोविड-19 संक्रमण के जोखिमों का निर्धारण कर सकते हैं
विज्ञापन
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : Pixabay/Amar Ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

विस्तार

कोरोना वायरस की शुरुआत से ही चिकित्सा विशेषज्ञ और वैज्ञानिक इस घातक बीमारी से जुड़े कई रहस्यों के जवाब ढूंढने की कोशिश कर रहे हैं। इन्हीं में से एक है विभिन्न रक्त समूहों और कोविड-19 के जोखिमों के बीच के संबंधों के बारे में पता लगाना। पिछले साल नवंबर में नेचर नामक पत्रिका में एक अध्ययन रिपोर्ट प्रकाशित हुई थी, जिसमें रक्त के प्रकार भी कोविड-19 संक्रमण के जोखिमों का निर्धारण कर सकते हैं, लेकिन हाल ही में हुए एक नए शोध ने पिछले दावों को खारिज कर दिया है और यह निष्कर्ष निकाला है कि रक्त के प्रकार और कोरोना वायरस के बीच कोई संबंध नहीं है। 
विज्ञापन


क्या ब्लड ग्रुप कोरोना के जोखिमों को प्रभावित कर सकते हैं? 

अध्ययन के मुताबिक, जब कोरोना संक्रमण के जोखिम की बात आती है, तो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि आपका ब्लड ग्रुप ए है, बी है या ओ पॉजिटिव या एबी पॉजिटिव, जबकि पिछले साल हुए शोध में यह दावा किया गया था कि ओ-पॉजिटिव ब्लड ग्रुप के अलावा अन्य सभी ब्लड ग्रुप वाले लोगों को कोरोना से संक्रमित होने का खतरा अधिक होता है। यह अध्ययन अमेरिका के न्यूयॉर्क में अस्पतालों में भर्ती 14,000 लोगों पर किया गया था। 


नए अध्ययन में क्या पाया गया है? 

जामा नेटवर्क ओपन में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक, रक्त प्रकार और कोरोना जोखिम के बीच कोई संबंध नहीं है। यह अध्ययन अमेरिका के यूटा में इंटरमाउंटेन मेडिकल सेंटर हार्ट इंस्टीट्यूट के डॉ. जेफरी एंडरसन के नेतृत्व में शोधकर्ताओं के एक समूह द्वारा किया गया है। इस अध्ययन में हजारों लोगों को शामिल किया गया था। अध्ययन में शामिल लोगों में से 11,500 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए थे, जबकि बाकियों की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। इस दौरान शोधकर्ताओं ने पाया कि अलग-अलग रक्त समूहों पर कोरोना का कोई भी प्रभाव नहीं है। 

कोविड-19 और ब्लड ग्रुप के संबंधों को लेकर कनाडा में भी हाल ही में एक अध्ययन किया गया था, जिसमें यह कहा गया था कि अन्य ब्लड ग्रुप वाले लोगों की तुलना में ए ब्लड ग्रुप वालों को कोरोना के संक्रमण का खतरा अधिक होता है। इस अध्ययन को ब्लड एडवांसेस नामक पत्रिका में प्रकाशित भी किया गया था। 

स्रोत और संदर्भ: Association of Sociodemographic Factors and Blood Group Type With Risk of COVID-19 in a US Population (2021)
https://jamanetwork.com/journals/jamanetworkopen/fullarticle/2778155 

अस्वीकरण नोट:  यह लेख jamanetwork.com में प्रकाशित स्टडी के आधार पर तैयार किया गया है। लेख में शामिल सूचना व तथ्य आपकी जागरूकता और जानकारी बढ़ाने के लिए साझा किए गए हैं। किसी भी तरह के बीमारी के लक्षण हों अथवा आप किसी रोग से ग्रसित हों तो अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें  लाइफ़ स्टाइल से संबंधित समाचार (Lifestyle News in Hindi), लाइफ़स्टाइल जगत (Lifestyle section) की अन्य खबरें जैसे हेल्थ एंड फिटनेस न्यूज़ (Health  and fitness news), लाइव फैशन न्यूज़, (live fashion news) लेटेस्ट फूड न्यूज़ इन हिंदी, (latest food news) रिलेशनशिप न्यूज़ (relationship news in Hindi) और यात्रा (travel news in Hindi)  आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़ (Hindi News)।  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X