आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Vishwa Kavya ›   Nasir Kazmi best ghazal dukh ki lahar ne chheda hoga
दुख की लहर ने छेड़ा होगा: नासिर काज़मी

विश्व काव्य

दुख की लहर ने छेड़ा होगा: नासिर काज़मी

अमर उजाला, काव्य डेस्क, नई दिल्ली

439 Views
दुख की लहर ने छेड़ा होगा 
याद ने कंकर फेंका होगा 

आज तो मेरा दिल कहता है 
तू इस वक़्त अकेला होगा 

मेरे चूमे हुए हाथों से 
औरों को ख़त लिखता होगा 

भीग चलीं अब रात की पलकें 
तू अब थक कर सोया होगा  आगे पढ़ें

सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!