आपका शहर Close
Kavya
Hindi News ›   Kavya ›   Vishwa Kavya ›   Lalan shah fakeer poetry lalan kahe jati ka roop
Lalan shah fakeer poetry lalan kahe jati ka roop

विश्व काव्य

लालन शाह फ़कीर- लालन कहे जाति का रूप

अमर उजाला काव्य डेस्क, नई दिल्ली

180 Views
सब लोग पूछें लालन की जात, जगत में,
लालन कहे जाति का रूप, 
देखा न इस नजर से।
सुन्नत देने से होता है मुसलमान,
नारी का तब क्या हो विधान?
ब्राह्मण चीन्हें जनेऊ प्रमाण,
फिर ब्राह्मणी को चीन्हें कैसे रे?
कोई माला, कोई तसबीह डाले गले, 
उससे क्या जात भिन्न हो चले?
जनम अथवा मरण काल में, 
जाति-चिह्न रहता किसका रे?
जग में फैल रही जाति की कथा,
लोग किस्से गढ़ते यथातथा,
लालन कहे, जाति का फातना
डुबा दिया साध-बाजार में।
काशी जाओगे या मक्का, चल रे मन देख आएं
दोनों जगहों से लौटते होगी सांझ
-न कोई उपाय।
मक्का जाकर धक्का खाकर,
जाना चाहो अब काशी धाम। 
इसी फेर में दिन कट गया,
तय न कर पाए, सही स्थान।
नैवेद्य में पका केला,
उसे देखकर मन भरमाया।
शीरनी भोग दरगाह में, 
उसे देख भी मन खलबलाया।
बाल पककर अस्त-व्यस्त हो गए,
पाया न पथ का अंत,
लालन कहे, संधि भूल गए,
न पा सके नदी का कूल।
प्रेम जाने ना प्रेम हाट की बुलबुल
अरे उसकी बात में होता ब्रह्म आलाप, 
पर मन में लबालब विष भरा।
खूब कहे वैष्णवगिरि,
रस बोध नहीं, बस गुमान भारी।
हरि नाम की दे दुहाई,
तीन लड़ी वाली उसकी जप की माला।
झाड़ फूंक से करता भूत-भगानी,
इसी वजह पाता गणमान्य श्रेणी
और साधू-हाट में उसकी घुसघुसानी,
मिथ्या उसका आलापना।
उसका मतवाला मदन-रस से,
सदा रहता उसी आवेश में,
लालन कहे, सब झूठी उसकी, 
लोक-लुभानी प्रेम उतावला।
कैसा एक अनचीन्हा पंछी पोसा पिंजड़े में,
न हुआ जनमभर जिससे परिचय।
आंख के कोने में पंछी का बसेरा,
देख न पाऊं, क्या है तमाशा?
मेरी इस धुंधलेपन की दशा,
कौन अब मिटाए।
पंछी राम रहीम की बोली बोलता,
करता वह अनंत लीला,
बोलो उसे किसने चीन्हा,
बोलो रे निश्चय।
जिसे साथ-साथ ले फिरता,
काश उसे पाता पहचान,
लालन कहे अधर को धरूं,
किस रूप-ध्वजा है?

अनुवाद- मुचकुंद दुबे 

सर्वाधिक पढ़े गए
Top

Other Properties:

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Your Story has been saved!