विज्ञापन

ख़लील जिब्रान : तुम्हारे अंदर दुख जितनी गहराई तक पहुंचता है, उतना ही अधिक तुम सुख का अनुभव कर सकते हो

kahlil gibran poetry in hindi sukh aur dukh
                
                                                                                 
                            सुख और दुख
                                                                                                


तब एक महिला बोली -
'हमें दुख और सुख के बारे में कुछ बताइए।'
और फिर उसने बताना शुरु किया -
तुम्हारे दुख का तुमसे दूर जाना ही तुम्हारा सुख है।
और वही भंडार, जिसमें से तुम्हारी हंसी उठती है,
अधिकांशत: वह तुम्हारे आंसुओं से भरा होता है।

इसके अलावा इसमें और कुछ कैसे हो सकता है ?
तुम्हारे अंदर दुख जितनी गहराई तक पहुंचता है,
उतना ही अधिक तुम सुख का अनुभव कर सकते हो।

क्या वह प्याला जिसमें शराब भरी हुई है, वही प्याला नहीं है
जिसे कुम्हार के यहां भट्टी में पकाया गया था ?
क्या वह बांसुरी वही लकड़ी नहीं है, जिससे तुम्हारी आत्मा को शांति प्राप्त होती है 
और जिसमें चाकुओं से छेद किए गए थे ?
जब तुम आनंदित हो जाओ तो अपने दिल की गहराई में झांककर देखो और तुम देखोगे 
कि जो तुमको सुख दे रहा है, वह वही है, जिसने तुमको दुख दिया है।
जब तुम दुखी हो जाओ तो दोबारा अपने दिल में देखो और
तब तुम देखोगे कि वास्तव में तुम उसके लिए रो रहे हो, जो तुम्हारा सुख रहा है।

तुममें से कुछ लोग कहते हैं, 'दुख की अपेक्षा सुख श्रेष्ठ है'
और कुछ कहते हैं, 'नहीं, दुख ही श्रेष्ठ है।'
लेकिन मैं तुमसे कहता हूं कि ये दोनों की अपृथकनीय है अर्थात्
उन्हें एक-दूसरे से अलग नहीं किया जा सकता।
ये साथ-साथ आते हैं औऱ जब उनमें से एक भोजन के समय 
तुम्हारे साथ बैठा है तो याद रखो कि दूसरा तुम्हारे बिस्तर पर सो रहा है।

अधिकांशत: तुम अपने सुख और दुख के बीच तराजू की तरह लटके हुए हो,
जो ऊपर-नीचे होता रहता है 
हक़ीक़त में तुम उसी समय स्थिर और संतुलित रहते हो, जब तुम खाली हो।
जब खज़ाने की देखभाल करने वाला अपनी सोना-चांदी तौलने के लिए तुम्हें उठाता है,
तब तुम्हारा सुख और दुख कम-ज़्यादा होता रहता है। 
 
8 months ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X