आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Vishwa Kavya ›   ajandek wagner poems on lover departs
ajandek wagner poems on lover departs

विश्व काव्य

ज़्देन्येक वागनेर: चली जाओ अगर तुम जाना चाहती हो...

अमर उजाला काव्य डेस्क, नई दिल्ली

532 Views
चेक कविता

चली जाओ

-ज़्देन्येक वागनेर-



चली जाओ
अगर तुम जाना चाहती हो

वहां तक
जहां से व्योम-गंगा बहती है।

तुम्हारी आंखों की
चमकीली तारिकाएं
मेरे दिल में से तो

कभी ग़ायब न होंगी।
 
Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!