आप अपनी कविता सिर्फ अमर उजाला एप के माध्यम से ही भेज सकते हैं

बेहतर अनुभव के लिए एप का उपयोग करें

विज्ञापन

Social Media Poetry: रास्ता देखते थे नयन राम का, आज हो ही गया आगमन राम का !

सोशल मीडिया
                
                                                                                 
                            रास्ता  देखते  थे   नयन   राम  का 
                                                                                                

आज हो ही गया आगमन राम का !

राह की हर शिला फिर अहिल्या हुई
केवटों  ने  चरण  धूल  प्रभु की छुई
पूर्ण  श्रद्धा  भरा  हर  सुमन राम का
आज  हो  ही  गया आगमन राम का !

शबरियों की कुटी स्वर्ण की हो गयी
पीर  घायल  पड़े  गीध की खो गयी
कर रहा है हृदय बस भजन राम का
आज हो ही गया आगमन राम का !

राष्ट्र  सारा  बने  राम  जी  का  सखा
जिस तरह राम ने मान सब का रखा
विश्व  बंधुत्व  है  आचरण  राम  का
आज हो ही गया आगमन राम का !

साभार: ज्ञान प्रकाश आकुल की फेसबुक वाल से 
1 month ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X