'ख़तरे' पर कहे गये शेर....

'ख़तरे' पर कहे गये शेर....
                
                                                             
                            ख़त्म कब हो ये कुछ नहीं मालूम
                                                                     
                            
हर नफ़स पर है मौत का ख़तरा
- वसीम बरेलवी

हम ने ख़तरा मोल लिया नादानी में
ख़ुद को छोड़ा अपनी ही निगरानी में
- सुबोध लाल साक़ी आगे पढ़ें

4 weeks ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
X