विज्ञापन

शहर बनारस पर अख़्तर शीरानी की नज़्म 'हर इक को भाती है दिल से फ़ज़ा बनारस की'

akhtar shirani urdu nazm on banaras har ik ko bhaati hai dil se faza banaras ki
                
                                                                                 
                            

हर इक को भाती है दिल से फ़ज़ा बनारस की


वो घाट और वो ठंडी हवा बनारस की
वो मंदिरों में पुजारियों का हुजूम
वो घंटियों की सदा वो फ़ज़ा बनारस की
तमाम हिन्द में मशहूर है यहाँ की सहर
कुछ इस क़दर है सहर ख़ुशनुमा बनारस की
पुजारियों का नहाना वो घाट पर आ कर
वो सुब्ह-दम की फ़ज़ा दिल-कुशा बनारस की
वो कश्तियों का समाँ और वो सैर गंगा की
वो ठंडी ठंडी हवा जाँ-फ़िज़ा बनारस की
हमारे दिल से निकलती है ये दुआ 'अख़्तर'
कि फिर भी शक्ल दिखाए ख़ुदा बनारस की

1 month ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X