विज्ञापन

उत्तर प्रदेश के शामली में सूखती कांठा नदी को मिला एक 'मल्लाह' का सहारा

Arun Tiwariअरुण तिवारी Updated Sun, 08 Dec 2019 02:11 AM IST
भगीरथ प्रयास सम्मान से नवाजे गए मुस्तकीम
भगीरथ प्रयास सम्मान से नवाजे गए मुस्तकीम - फोटो : सोशल मीडिया
ख़बर सुनें
उम्र 30 साल। रंग सांवला। निवास स्थान-गांव रामड़ा, तहसील कैराना, जिला शामली, उत्तर प्रदेश। भावुक इतना कि बात-बात पर रो पड़ता है। ईमानदार इतना कि खुद कह उठता है, 'उस बखत तक मैं यू भी नी जानता था कि एसडीएम बड़ा होवे है कि तहसीलदार।' कहने वाले उसे गरीब कहते हैं; क्योंकि वह एक मल्लाह का बेटा है; क्योंकि पैसे की कमी के कारण कभी उसे अपनी पढ़ाई आठवीं में ही रोकनी पड़ी। उसने आइसक्रीम बेची, अखबार बेचे। वह अमीर है; क्योंकि उसका हौसला दाद देने लायक है। इसी हौसले के बूते आज वह सामाजिक कार्य की पढ़ाई में भी ग्रेजुएट है और नदी के जमीनी कार्य में भी। उस पर झूठे मुकदमे हुए। हतोत्साहित करने वाले भी हजारों मिले। 
विज्ञापन
किंतु वह भली-भांति जानता है कि नदी मल्लाह की जिंदगी है। नदी सूख जाए, तो मल्लाह की जिंदगी का सुख सूखते क्या वक्त लगता है! नदी की जिंदगी में एक मल्लाह के सुख का अक्स देखते-देखते अब उसे नदियों से मोहब्बत हो गई है। वह कहता है, 'तमाम मखलूक, खुदा की बनाई हुई है। नदियों में आई गंदगी उनकी जान ले रही है। नदियों का सूख जाना और भी तकलीफदेह है। मलिन नदियों को निर्मल करके हम करोड़ों जिंदगियां बचा सकते हैं।' वह नदियों का दोस्त है। कांठा नदी को पानीदार बनाने का उसका प्रयास उसकी दोस्ती का पुख्ता प्रमाण है। वह मुस्तकीम है। वर्ष 2019 के प्रतिष्ठित ’भगीरथ प्रयास सम्मान’ से नवाजी गई अब तक की सबसे कम उम्र की शख्सियत।
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

आईआईटी से कम नहीं एलपीयू, जानिए कैसे
LPU

आईआईटी से कम नहीं एलपीयू, जानिए कैसे

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक

विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Blog

गणतंत्र दिवस 2020 विशेषः 26 जनवरी को ही बना था भारत पूर्ण संप्रभुता संपन्न

लगभग दो सदियों की अंग्रेजों की गुलामी के बाद भारत को 15 अगस्त 1947 को आजादी तो अवश्य मिली मगर यह देश सम्पूर्ण प्रभुता सम्पन लोकतांत्रिक गणराज्य 26 जनवरी 1950 को अपना संविधान लागू करने के बाद ही बन सका था।

26 जनवरी 2020

विज्ञापन

जाने 27 जनवरी का दिन किन राशि वालों के लिए है बेहतर

यहां देखिए क्या कहता है 27 जनवरी का आपका राशिफल इतना ही नहीं अब हर रोज दिन के हिसाब से जानिए अपना राशिफल।

26 जनवरी 2020

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us