विज्ञापन

आज का शब्द: पूनम और कवि प्रदीप का गीत 'मेरे जीवन के पथ पर छाई ये कौन पूनम की चाँदनी'

aaj ka shabd poonam kavi pradeep hindi geet mere jeevan ke path par chhayi ye kaun poonam ki chandani
                
                                                                                 
                            हिंदी हैं हम शब्द-श्रृंखला में आज का शब्द है 'पूनम' जिसका अर्थ है 1. जिस दिन आकाश में चंद्रमा अपनी पूरी कलाओं में रहता है; पूर्णिमा 2. शुक्ल पक्ष का अंतिम दिन। कवि प्रदीप ने अपने एक गीत में इस शब्द का प्रयोग किया है। 
                                                                                                


मेरे जीवन के पथ पर छाई ये कौन
पूनम की चाँदनी
अरे
मधुर-मधुर मन भायी
ये कौन
मधुर-मधुर मन भायी
पूनम की चाँदनी
मेरे जीवन के पथ पर छाई ये कौन
पूनम की चाँदनी

धीमे-धीमे मेरी कुटी में
इठलाती हुई बलखाती हुई
चुपचाप कहीं से आई
ये कौन
चुपचाप कहीं से आई
पूनम की चाँदनी
मेरे जीवन के पथ पर छाई ये कौन
पूनम की चाँदनी

कौन परी ये स्वर्ग से उतरी
बड़ी लाज भरी मेरे आस-पास
खेलन लागी रस-रंग रास
पल-पल ले कर अंगड़ाई
ये कौन
पल-पल ले कर अंगड़ाई
पूनम की चाँदनी
मेरे जीवन के पथ पर छाई ये कौन
पूनम की चाँदनी
 
3 months ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X