विज्ञापन

आज का शब्द: महिषासुरमर्दिनी और मानोशी की कविता- माँ का फिर आह्वान हुआ है

आज का शब्द
                
                                                                                 
                            'हिंदी हैं हम' शब्द श्रृंखला में आज का शब्द है- महिषासुरमर्दिनी, जिसका अर्थ है- देवी जिन्होंने अनेक असुरों का वध किया और जो आदि शक्ति मानी जाती हैं। प्रस्तुत है मानोशी की कविता- माँ का फिर आह्वान हुआ है 
                                                                                                


माँ का फिर आह्वान हुआ है
जगत उल्लसित पुलक उठा।

शरत-प्रात की धवल धूप में
ठण्ड गुलाबी नहा रही
कास फूल की लहर चली है
हवा हर्ष की बहा रही

लाल पाड़ की घूँघट ओढ़े
दीपक थाली हाथ लिये
पूजा को जब चली सुहागिन
हर दिक् चंदन महक उठा। आगे पढ़ें

1 month ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
विज्ञापन
X