आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Mud Mud Ke Dekhta Hu ›   Munawwar rana writes about Gopaldas neeraj
Gopaldas Neeraj

मुड़ मुड़ के देखता हूं

मैंने ‘नीरज’ की कलंदरी की राख अपने चेहरे पर मल ली… मुनव्वर राना

अमर उजाला काव्य डेस्क, नई दिल्ली

626 Views

मुनव्वर राना उर्दू अदब के मकबूल नामों में से एक हैं और गोपालदास नीरज हिंदी कविता व गीतों की एक मशहूर हस्ती हैं। दोनों का एक दूसरे से प्रभावित होना स्वाभाविक ही है। गोपालदास नीरज से हुई पहली मुलाक़ात के बारे में मुनव्वर राना किताब ‘ढलान से उतरते हुए’ में लिखते हैं कि…

“नीरज की शख़्सियत की जादूगरी और उनकी तख़्लीकी हुनरकारी से तो मैं बहुत पहले से वाकिफ़ था लेकिन उनके दीदार की दौलत से मेरी आँखें पहली बार मालामाल हो रही थीं। अपनी शोहरत और नामवरी से बेपरवाह नीरज साहब की कलन्दरी मुझे अच्छी लगी। मैंने उनकी इस सादा मिजाज़ी की दुआएं मांगी और उनकी इस कलन्दरी की राख अपने चेहरे पर मल ली।
ज़िन्दादिली के साथ ज़िन्दा रहने का हुनर नीरज साहब से ज़्यादा किसी को नहीं आता।”


नीरज के साथ हुए एक मज़ाहिया वाक़ये को याद करते हुए मुनव्वर लिखते है कि

एक बार देहली के किसी होटल में नीरज भाई ठहरे हुए थे, उनके रूम का दरवाज़ा खोलकर अचानक एक ख़ूबसूरत ख़ातून दाख़िल हुई लेकिन फ़ौरन ही उन्होंने यह कहकर पलटना चाहा कि माफ़ कीजिएगा, मैं ग़लत कमरे में आ गयी। नीरज साहब ने कहकहा लगाते हुए कहा कि मैडम, कमरा तो सही है लेकिन आप ग़लत उम्र में हमारे पास आयी हैं।
सच्चाई तो यही है कि बढ़ती हुई उम्र और ख़तरनाक बीमारियों से बहादुरी के साथ जूझने का नाम ही गोपालदास नीरज है।



साभार- वाणी प्रकाशन
ढलान से उतरते हुए

सर्वाधिक पढ़े गए
Top

Other Properties:

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Your Story has been saved!