आपका शहर Close
Kavya Kavya
Hindi News ›   Kavya ›   Mere Azeez Filmi Nagme ›   Tum aye to aya mujhe yaad gali mein aaj chand nikla
Tum aye to aya mujhe yaad gali mein aaj chand nikla

मेरे अज़ीज़ फिल्मी नग़मे

तुम आए तो आया मुझे याद गली में आज चांद निकला...

दीपाली अग्रवाल काव्य डेस्क, नई दिल्ली

6741 Views

1998 में फ़िल्म आयी थी ज़ख़्म जो महेश भट्ट जैसे मंझे हुए व्यक्तित्व के निर्देशन में बनी थी। यह फ़िल्म क़ौमी दंगों पर आधारित थी और पटकथा के लिहाज से बेहद मजबूत थी। इसके रिलीज़ के समय मेरी समझ इतनी नहीं थी कि इसके गंभीर मुद्दे को समझ सकूं और समाज के हालातों पर विचार कर सकूं। बहुत से बहुत इसके गानों की धुनों को ही आत्मसात कर सकती थी।

आज ज़रूर मैं इस फ़िल्म की आख़िरी तह तक जा सकती हूं और उस स्थिति पर सोचमग्न हो सकती हूं जिसे इसमें बयां किया गया है। क़ौमी दंगे हमेशा से राजनैतिक स्वार्थ का प्रतिफ़ल रहे हैं और हम आम नागरिकों को यह विवेक बनाए रखने की आवश्यकता है कि हम आपस में सौहार्द के साथ जीवन जी सकें। इस तरह के नाज़ुक मुद्दे पर बनी इस फ़िल्म का अंतिम उद्देश्य भी यही अमन का संदेश है।

आगे पढ़ें

तुम आये तो आया मुझे याद...

सर्वाधिक पढ़े गए
Top

Other Properties:

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Your Story has been saved!