आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Mere Alfaz ›   Kyoki is pal me tum tumhare sath ho

मेरे अल्फाज़

क्योंकि इस पल में तुम तुम्हारे साथ हो

Sargam Dange

4 कविताएं

161 Views
क्योंकि इस पल मे तुम तुम्हारे साथ हो...

क्यों ना आज खुद को सहारा देते हैं...
क्यों ना आज खुद को नया किनारा देते हैं..
क्यों ना ठंडी हवा को नया नजारा देते हैं...
क्यों ना आज खुद को नया इशारा देते हैं...
क्यों ना आज दूर करे खुद से खुद की तन्हाईयां...
क्यों ना आज खत्म करे खुद से खुद की लड़ाइयां...
सिर्फ एक बार सोच कर देखो की मुस्कराहट तुम्हारे पास हो..
क्योंकि इस पल में तुम सिर्फ तुम्हारे साथ हो..

तो क्या हुआ किसी अजनबी का साथ छुटा..
तो क्या हुआ किसी अनजाने के हाँथ से
तुम्हारा हाँथ छुटा..
तो क्या हुआ तुम दो पल कहीं खो लिए...
तो क्या हुआ दो पल किसी की याद में रो लिए..
तो क्या हुआ तुम्हारे ज़रा से आंसू बहें..
तो क्या हुआ तुमने सारे ग़म सहे
और अपने अल्फाज किसी से ना कहे...
तो क्या हुआ?
अब ग़म के बादल भुला कर इबादत करो
की खुशियां तुम्हारे हाँथ हो...
क्योंकि इस पल में तुम सिर्फ तुम्हारे साथ हो...

एक बार खुद को अहमियत देकर तो देखो...
एक बार अपनी खैरियत ले कर तो देखो..
एक बार करो लो खुद से मुस्कान का वादा..


हमें विश्वास है कि हमारे पाठक स्वरचित रचनाएं ही इस कॉलम के तहत प्रकाशित होने के लिए भेजते हैं। हमारे इस सम्मानित पाठक का भी दावा है कि यह रचना स्वरचित है। 

आपकी रचनात्मकता को अमर उजाला काव्य देगा नया मुक़ाम, रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें।
 
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!