आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Mere Alfaz ›   We are brave soldiers of Hindustan.

मेरे अल्फाज़

हम हिन्द के वीर जवान हैं

Rounit Sinha

1 कविता

154 Views
हम हिन्द के वीर जवान हैं 
तुम लघु और हम घमासान हैं

दर्द से परे इंसान खड़ा हूं मैं ,
मौत से लड़े तेरा यमराज खड़ा हूं मैं ।

तेरी ये गुर्राहट हमारी तो बस फंकार है ,
तू हमें क्या आंख दिखाएगा ऐ चीन
हमारे सर पर बैठा तेरा काल चांडाल है ।

अपनी गलतियों से सीख ले चीन
तू कागज़ और हम आग है ।

हम हिन्द के वीर जवान हैं
तू मुक्का तो हम पहलवान बलवान है ।।

हम पर चंडी का हाथ है
पूरा भारत आज एक साथ है ,
सुधर जा ऐ चीन नहीं तो
आने वाली पूनम तेरी आखिरी रात है ।

हम हिन्द के वीर जवान हैं
तू खौफ़ तो हम बलवान हैं ।।

ज़िन्दा तुझको खरोच जाएंगे
सरहद तेरी , देश तेरा लेकिन हम
अपना तिरंगा गाड़ जाएंगे ।
शब्दों से नहीं इस बार
हाथों से तुझे सबक सीखाएंगे ।

तू नटखट बालक तो हम तुझे समझाएंगे
हम हिन्द के वीर जवान हैं

--  Rounit


- हमें विश्वास है कि हमारे पाठक स्वरचित रचनाएं ही इस कॉलम के तहत प्रकाशित होने के लिए भेजते हैं। हमारे इस सम्मानित पाठक का भी दावा है कि यह रचना स्वरचित है। 

आपकी रचनात्मकता को अमर उजाला काव्य देगा नया मुक़ाम, रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!