आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Mere Alfaz ›   Do you know our identity

मेरे अल्फाज़

आप क्या हमारी पहचान बताते हैं

Ñíşhàť Mahshar

36 कविताएं

224 Views
आप क्या हमारी पहचान बताते हैं
माथे पे बने सजदे जो निशान बताते हैं

है कितना हौसला अन्दर तेरे नादाँ
हमारी ज़िन्दगी में आये तूफ़ान बताते हैं

भटकते हैं जब कभी अपने मंज़िलों से
रास्ता हमें अक़्सर ही अंजान बताते हैं

वो जो खेलते थे बचपन में संग मिरे
मिलने पे अब उँची पहचान बताते हैं

पूछते हैं सरज़मी से कितनी है मोहब्बत
दिन के पाँच वक़्त के अरकान बताते हैं

#Nishat महशर
बी डी घाट सिविल लाईन कानपुर
Email id: [email protected]

- हमें विश्वास है कि हमारे पाठक स्वरचित रचनाएं ही इस कॉलम के तहत प्रकाशित होने के लिए भेजते हैं। हमारे इस सम्मानित पाठक का भी दावा है कि यह रचना स्वरचित है। 

आपकी रचनात्मकता को अमर उजाला काव्य देगा नया मुक़ाम, रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!