आपका शहर Close
Kavya Kavya
Hindi News ›   Kavya ›   Mere Alfaz ›   Bahut barshon tak samay ne humein chhupaye rakha
Bahut barshon tak samay ne humein chhupaye rakha

मेरे अल्फाज़

बहुत वर्षों तक समय ने हमें छुपाये रखा

Mahesh Rautela

36 कविताएं

21 Views
बहुत बर्षों तक समय ने हमें छुपाये रखा,
लेकिन जिन्दगी की बातचीत ने दीप सा जलाये रखा।

हर दिन आकाश को देखता हूँ,
वहीं एक शान्त जगह का अनुमान लगाता हूँ।

छोड़ दी जिन्दगी समय के प्रवाह में,
ठहरी मिली आगे वह, बुढ़ापे के आगोश में।

- महेश रौतेला

हमें विश्वास है कि हमारे पाठक स्वरचित रचनाएं ही इस कॉलम के तहत प्रकाशित होने के लिए भेजते हैं। हमारे इस सम्मानित पाठक का भी दावा है कि यह रचना स्वरचित है। 

आपकी रचनात्मकता को अमर उजाला काव्य देगा नया मुक़ाम, रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें।
Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
Top

Other Properties:

Your Story has been saved!