आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Mere Alfaz ›   Some people also do new
Some people also do new

मेरे अल्फाज़

कुछ लोग नया भी करते हैं

kavi nag

4 कविताएं

22 Views
खिड़की खोल के कुछ लोग नया भी करते हैं
भर हौसले की उड़ान कुछ अंबानी भी बनते हैं

कुछ लोग नया भी करते हैं
इतिहास उन्हीं पर जंचता है जो रणभूमि में लड़ते हैं

‎तिल-तिल के मरते हैं कुछ जीना सीख लेते हैं
‎कुछ लोग नया भी करते हैं

एवरेस्ट की चोटी फतह विकलांग भी करते हैं
‎कुछ लोग जीते हैं कुछ जग को जीत लेते हैं

‎कुछ लोग नया भी करते हैं
‎कोई प्रेरणा किसी की बनता है कोई "एप्पल" को भी नाम देता है

‎‎ कुछ लोग नया भी करते हैं
‎ओछे-ओछे कद वाले रोज चुनौती देते हैं

‎कोई बताए इन को....
‎मातृभूमि के ख़ातिर हम बर्फ में भी जी लेते हैं

हमें विश्वास है कि हमारे पाठक स्वरचित रचनाएं ही इस कॉलम के तहत प्रकाशित होने के लिए भेजते हैं। हमारे इस सम्मानित पाठक का भी दावा है कि यह रचना स्वरचित है। 

आपकी रचनात्मकता को अमर उजाला काव्य देगा नया मुक़ाम, रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें।
Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!