होली आयी बहन भाई

                
                                                             
                            होली आयी बहन भाई,
                                                                     
                            
दुनिया रंगों में नहाई,
गीले शिकवे भुला सबको
गले लगाने की घड़ी आई..

प्रह्लाद को जलाने होलिका गोद मे बिठाई,
प्रह्लाद ने प्रभु चरण में ध्यान लगाई,
चादर हवा के झोकों से उड़ जाई,
ख़ुद होलिका अग्नि में जल जाई,
तब नई ऊर्जा संसार मे आई,
होली आयी बहन भाई..

ब्रज में राधा डाले कृष्ण पे रंग,
गोपियां भी झूमें रंगा के मोहन के रंग,
घर-घर महके खुशियों की तरंग,
कितना प्यारा लगे जब सब हो संग ही संग
अब हो ना किसी की लड़ाई,
होली आयी बहन भाई.. आगे पढ़ें

1 year ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
X