आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Mere Alfaz ›   RISHTE

मेरे अल्फाज़

रिश्ते

Devender Grover

13 कविताएं

281 Views
ब्रह्मांड से धरती तक, यह जीवन चलता है रिश्तों पर,

परिवार

इन रिश्तों के हैं रंग ओर रूप हजार,
मुफ्त में मिलता जहाँ सिर्फ माँ बाप का प्यार,
दादा दादी, नाना नानी बाँधे रखते,
सबको यहाँ निस्वार्थ प्रेम के धागों से,
रिश्ता भाई बहन का होता है सबसे ही अनमोल,
इस रिश्ते का दुनिया में न होता कोई मोल,
ये रिश्ता धागों का नहीं, ये होता है जज़्बातों का।
ये रिश्ते हैं खून के, सम्मान के, निश्छल व मधुर प्यार के,

सर्व प्रथम जो मिलता हमको वो रिश्ता है खून का।

पति पत्नी

किसी की साँसों से, फिर अन्तिम साँस तक रिश्ता,
निभे तो सात जन्मों का, अटल विश्वास का रिश्ता,
प्यार और एहसास का रिश्ता, चुटकी भर सिंदूर का रिश्ता,
ये रिश्ता पति पत्नी का, है दिल से दिल का रिश्ता,
जीवन का ये पवित्र रिश्ता है भरोसे ओर समर्पण का, जिसमें,
पति का नाम भरोसा है ओर पत्नी नाम समर्पण का।

दोस्ती

कुछ रिश्ते ऐसे होते हैं जो सुख दुख में काम आते हैं,
अपनों की तो छोड़ो, ये कभी फर्ज उनसे बढ़कर निभाते हैं,
लंबे समय तक टिकते यदि न हो इसमें कोई स्वार्थ,
और जो मतलब से बनते वो जल्द दम तोड़ जाते हैं,
ये दोस्ती का रिश्ता ही यारों, कुछ ऐसा होता है,
जो दिल में बसता है ओर भरोसे का होता है।

गुरु (जीवन की सच्चाई)

इस जग में सबसे आदरणीय है गुरु ओर शिष्य का रिश्ता,
ये रिश्ता है ज्ञान का ओर गुरु के सम्मान का रिश्ता,
पर ये हम क्यों भूल जाते हैं
मेरी आन ओर मेरी शान इस रिश्ते ने बनाई है,
पर इस रिश्ते की याद हमें बहुत कम ही आई है।

रिश्तों की सच्चाई

परन्तु आज नफरत की आग में, झुलस गए हैं ये रिश्ते,
कुछ पश्चिमी सभ्यता ने बरबाद कर दिए रिश्ते,
दूरियां बढ़ गईं और पराए हो गए रिश्ते,
न हम झुके, न तुम झुके, गुम हो गए रिश्ते,
नाजुक डोरी रिश्तों की, माँगें बस थोड़ा सा प्यार,
साथ अगर हो अपनों का, तो होगा खुशियों का अम्बार।
अहम छोड़ कर, गर झुक जाए, तभी निभेगा इन रिश्तों का संसार,
कुछ हम झुकें, कुछ तुम झुको, कुछ तुम सहो, कुछ हम सहें,
बने रहेगा ओर मधुर रहेगा इन रिश्तों का संसार।

हमें विश्वास है कि हमारे पाठक स्वरचित रचनाएं ही इस कॉलम के तहत प्रकाशित होने के लिए भेजते हैं। हमारे इस सम्मानित पाठक का भी दावा है कि यह रचना स्वरचित है। 

आपकी रचनात्मकता को अमर उजाला काव्य देगा नया मुक़ाम, रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें।
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!